blogid : 3327 postid : 213

इंसानियत हो गई है, शर्मसार दिल्ली में।।

Posted On: 25 Apr, 2013 Others में

परंपराJust another weblog

डॉ. मनोज रस्तोगी

39 Posts

853 Comments

इज्जत हो रही है, तार-तार दिल्ली में ।
रोज हो रहे हैं, बलात्कार दिल्ली में ।।

खुंद ही कीजिएगा, यहां अपनी हिफाजत।
गहरी नींद में हैं, पहरेदार दिल्ली में ।।

किस तरह आजकल, बढने लगी हैवानियत।
इंसानियत हो गई है, शर्मसार दिल्ली में।।

’एक्शन’ के साबुन से धो, कर लेंगे साफ ।
वर्दी जो हो गई है, दागदार दिल्ली में ।।

चीखने-चिल्लाने का कोई, नहीं होगा असर।
गूंगी-बहरी हो गई है, सरकार दिल्ली में।।

लुटेरों पर चढा हुआ है, रंग सियासत का।
क्या करेगा अब बेचारा, थानेदार दिल्ली में।।

न तो यह गिरेगी, ना होगी टस से मस।
कुर्सी सत्ता की बडी है, जानदार दिल्ली में।।

बढने लगी है रोज, टीआरपी चैनलों की।
जमकर बिक रहे हैं, अखबार दिल्ली में ।।

डा मनोज रस्तोगी
8, जीलाल स्टीट
मुरादाबाद -244001
उत्तर प्रदेश

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (26 votes, average: 4.62 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग