blogid : 9626 postid : 1334356

हमें भी मुस्कुराना आ गया

Posted On: 10 Jun, 2017 Others में

Zindagi ZindagiJust another weblog

rekhafbd

319 Posts

2418 Comments

हमें भी मुस्कुराना आ गया है
पिया से दिल  लगाना आ गया है,
,
चली ठंडी हवायें अब यहाँ पर
हमें भी  गुनगुनाना आ गया है
,
मिले जो तुम मिला सारा जहाँ अब
यहाँ मौसम सुहाना आ गया है
,
खिला उपवन  यहां गाती फ़िज़ाये
बहारों का ज़माना आ गया है
,
बंधी  है प्रीत की यह आज डोरी
उन्हें अपना बनाना आ गया है

रेखा जोशी

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग