blogid : 19157 postid : 1184449

चाणक्य नीति : इन 3 लोगों के साथ अच्छा व्यवहार करने पर आपके साथ हो सकता है बुरा

Posted On: 1 Jun, 2016 Spiritual में

religious blogJust another Jagranjunction Blogs weblog

religious

848 Posts

132 Comments

हममें से अधिकतर लोगों का ये प्रयास रहता है कि सभी मनुष्यों के साथ अच्छा व्यवहार करें जिससे कि जीवन में सकारात्मकता का संचार हो सके. लेकिन कभी-कभी ऐसा भी होता है कि अच्छा व्यवहार करने के बाद भी हमारे हाथ निराशा ही लगती है क्योंकि इस दुनिया में कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जिनके साथ आप कितनी भी अच्छाई कर लें लेकिन अपने स्वभाव के कारण वो आपको समस्याओं में डाल देंगे. आचार्य चाणक्य ने अपने अनुभव के आधार पर ऐसे 3 लोगों के बारे में बताया है जिनसे आप कितना भी अच्छा व्यवहार कर लीजिए लेकिन आपको परिणाम हमेशा नकारात्मक ही मिलेंंगे. आइए, जानते हैं आचार्य चाणक्य की नीति से जुड़ी ये प्रमुख बातें.


chanakya 123


मूर्ख शिष्य

निसंदेह हर व्यक्ति का दिमाग एक जैसा नहीं होता. कुछ लोगों को कोई बात जल्दी समझ में आ जाती है जबकि कुछ लोगों को बातें समझने में काफी देर लगती है. लेकिन चाणक्य कहते हैं कि इस व्यक्ति की इस प्रवृत्ति से परे कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जो मूर्ख होते हैं. वो किसी भी बात को समझना ही नहीं चाहते. इसी तरह मूर्ख शिष्य को आप कितना भी ज्ञान बांटेंंगे वो कभी भी आपकी बातों को गंंभीरता से नहीं लेगा.



gurukul123


Read : अगर चाणक्य के इन 5 प्रश्नों का उत्तर है आपके पास तो सफलता चूमेगी आपके कदम


दुष्ट स्त्री

कुछ व्यक्ति स्त्रियों का सौदंर्य देखकर मंत्रमुग्ध हो जाते हैं लेकिन ऐसे व्यक्तियों को एक बात स्मरण रखनी चाहिए कि यदि कोई स्त्री दिखने में सुंदर या कितनी भी रूपवती है लेकिन स्वभाव से कठोर और नकारात्मक विचारों वाली है, तो आप उस स्त्री को चाहे कितना भी प्यार कर लें आपको एक न एक दिन विश्वासघात ही मिलेगा इसलिए ऐसी स्त्रियों से दूर ही रहना चाहिए.


woman in chanakya niti


रोगी व्यक्ति

वैसे तो रोगी मनुष्य की सेवा से बड़ा कोई धर्म नहीं माना गया है लेकिन आचार्य चाणक्य कहते हैं कि रोगी मनुष्य से दूर रहने में ही भलाई है क्योंकि इससे बहुत से रोग लग सकते है. चाणक्यनुसार इनसे व्यवहार बनाने से आपको केवल हानि ही उठानी पड़ेगी…Next


fever


Read more

ज्यादा ईमानदारी सफलता के लिए ठीक नहीं होती: चाणक्य नीति

चाणक्य नीति के अनुसार ऐसे मनुष्यों के लिए अभिशाप है युवती का साथ

अपना काम करवाने के लिए इस तरह आजमाएं चाणक्य की साम, दाम, दंड और भेद की नीति



Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 2.00 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग