blogid : 19157 postid : 812250

धन पाने की इच्छा में लोग कैसे करते हैं माँ लक्ष्मी को प्रसन्न

Posted On: 5 Dec, 2014 Spiritual में

religious blogJust another Jagranjunction Blogs weblog

religious

839 Posts

132 Comments

संसार में लोगों के दिलो-दिमाग पर भौतिकता ज्यादा हावी है. अपनी भौतिक इच्छाओं को पूरा करने के लिए लोग तरह-तरह के प्रयास करते हैं. मंदिरों में देवी-देवताओं के दर्शन के अलावा तरह-तरह के भंडारे का आयोजन किया जाता है. लोग विभिन्न प्रकार की मन्नतें मांगते हैं और कार्य सफल हो जाने पर उन्हें पूरा भी करते हैं. इसके अलावा भी लोग तरह-तरह के उपायों को इस्तेमाल कर धन की देवी लक्ष्मी को प्रसन्न करने की कोशिश करते हैं. पढ़िए उन उपायों को….


lakkmii



लक्ष्मी चालीसा

लक्ष्मी चालीसा कुछ छंदों का संकलन है जिसके द्वारा लोग माँ लक्ष्मी को प्रसन्न करने के प्रयास में रहते हैं. इस मंत्र के जाप से लोग माँ लक्ष्मी से यह जानना चाहते हैं कि ‘उनके भाग्य का उदय कब होगा. कब और कैसे उनके दुर्दिन सुधरेंगे?’


Read: क्यूं मां लक्ष्मी ने भगवान विष्णु की बात ना मानी और कर दिया एक पाप, जानिए क्या किया था धन की देवी ने?


भक्त माँगे मोर

लोग अपनी प्रार्थना के दौरान माँ लक्ष्मी से हर कुछ माँग लेना चाहते हैं. चाहे वह बुद्धिमानी हो या दैवीय शक्ति! अपनी इच्छा की पूर्ति के लिए वो माँ को प्रसन्न करते हुए कहते हैं कि ‘हे माँ! तीनों लोक में तुम जैसा दयालु और कोई नहीं है. केवल तुम ही हो जो हमारी खाली झोली को भर सकती हो.’


laxmii




माता की श्रेष्ठता

माँ को प्रसन्न करते हुए लोग कहते हैं कि, ’माते तुम सभी भौतिकता से ऊपर हो.  भक्तों के प्रति तुम्हारे प्यार को केवल शब्दों में नहीं बाँधा जा सकता. तुम इस जगत में वैभव की देवी हो. ’


Read: मां लक्ष्मी व श्री गणेश में एक गहरा संबंध है जिस कारण उन दोनों को एक साथ पूजा जाता है, जानिए क्या है वह रिश्ता


मेरे पापों का नाश करो

हालांकि लोग सांसारिक वास्तविकताओं की तरफ भी माँ लक्ष्मी का ध्यान खींचते हैं. वो कहते हैं कि,‘माते मुझे तुम्हारी स्तुति की विधि नहीं आती. फिर भी जैसे-तैसे मैं तुम्हारी पूजा करता हूँ. ऐसा करते हुए भी मैं मानव प्रकृति के वशीभूत हूँ. इसलिए मेरे पापों का नाश करो और मुझे अपनी शरण में ले लो.’ Next……


Read more:

क्यों मिला था भगवान विष्णु को श्राप, नेपाल के इस प्राचीन मंदिर में छिपा है उन्हें मुक्त करने का रहस्य

कालस्वरूप शेषनाग के ऊपर क्यों विराजमान हैं सृष्टि के पालनहार भगवान विष्णु

विष्णु जी की दूसरी शादी से स्तब्ध लक्ष्मी जी ने जो किया उस पर विश्वास करना मुश्किल है, जानिए एक पौराणिक सत्य


Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 4.00 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग