blogid : 19157 postid : 791530

जब ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय के प्रोफेसर के शव को कब्र से निकालकर पादरियों ने कूड़े में फेंका

Posted On: 2 Oct, 2014 Spiritual में

religious blogJust another Jagranjunction Blogs weblog

religious

724 Posts

132 Comments

अभी हिंदुस्तान माँ दुर्गा की स्तुति में मग्न है. नवरात्र को हम असत्य पर सत्य की विजय के रूप में मनाते है. भौगोलिक विभिन्नताओं के बावजूद धर्म का सदा से मानव जीवन पर गहरा प्रभाव रहा है. जहाँ भारत सनातन धर्म के साथ ही अन्य धर्मों को फलने-फूलने का मौका देता है वहीं यूरोप में ईसाई धर्म का प्रभाव साफ देखा जा सकता है. जहाँ धर्म सच्चे रास्ते पर ले जाने का मार्ग प्रशस्त करता है वहीं धर्म के साथ आडंबर को जोड़कर कई लोग इसका नाजायज फायदा भी उठाते हैं. धर्म सुधार आंदोलन से पहले कुछ ऐसे आडंबर थे जिसके कारण धर्मों में सुधार की जरूरत महसूस हुई.



rome images

सोलहवीं शताब्दी में यूरोप में पोप शक्ति का केंद्र हुआ करती थी. रोम को सुंदर नगर बनाने के लिए पोप एवं पादरीगण को धन की जरूरत महसूस हुई. उन्होंने धन वसूलने का एक तरीका निकाला जिसे इन्डलजेंस या मुक्तिपत्र कहा जाता था. इसके पीछे उद्देश्य यह था कि- यदि कोई व्यक्ति अपने किए हुए पाप का प्रायश्चित करना चाहता है या इच्छा रखता है कि नरक में उसे ज्यादा कष्ट ना सहना पड़े तो पोप को धन देकर वह दोनों ही कार्य करवा सकता है. पोप ईश्वर से प्रार्थना कर किसी भी पाप की सजा में कमी करवा सकता है.


Read: और तब दुनिया का विनाश होना निश्चित है



Jwycliffejmk

ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय के प्रोफेसर जॉन विकलिफ ने पादरियों द्वारा धन वसूलने के इस तरीके का  घोर विरोध किया. इससे खफ़ा होकर पोप ने उसे जातिच्युत कर दिया. उसकी मृत्यु होने पर पादरियों ने उसकी लाश को कब्र में से निकालकर कूड़े पर फेंक दिया.



en-saint-john-huss

जॉन हस भी पोप एवं पादरियों के इस तरीके का विरोधी था. जब उसने इस बात को लेकर रोमन चर्च का विरोध करना शुरू किया तो उसे पादरियों द्वारा जिंदा जला दिया गया. ऐसे कई और व्यक्ति हुए हैं जिन्होंने धर्म को अपने मूल रूप में स्थापित करने का प्रयास किया है.


Read: 13 किलो का भारी-भरकम ट्यूमर लेकर कैसे जी रहा था यह इंसान


martin-luther-nails-thesis-1

इस प्रकार धर्म में आडंबरों की समाप्ति की कीमत कई लोगों को जान देकर चुकानी पड़ी है. इसलिए हमें किसी भी धार्मिक उत्सव को मनाते वक्त आडंबरों से दूर रहना चाहिए.


Read more:

आसमान से उतरा था वो या समय की गति को मात देकर आया था…देखिए चीन की सड़कों पर घूमते एक रहस्यमय व्यक्ति की हकीकत

इंसान की नाक उसके माथे पर लगा दी जाए, क्या यह संभव है? इस वीडियो को देखकर आप शायद यकीन करने लगें

जिस किसी को वो दिखाई देता है उस पर मौत मंडराने लगती है

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग