blogid : 18111 postid : 924882

TATA PHOTON धोखाधड़ी मामला

Posted On: 29 Jun, 2015 Others में

AGLI DUNIYA carajeevgupta.blogspot.incarajeevgupta.blogspot.in

RAJEEV GUPTA

88 Posts

160 Comments

इंटरनेट की बढ़ती मांग के चलते इंटरनेट सर्विस देने वाली कम्पनियों की भी बाढ़ जैसी आई हुई है और टाटा, बिरला और अंबानी सभी की कम्पनियाँ इंटरनेट सेवाएं देने के नाम पर लोगों से अच्छी और मोटी रकम वसूल कर रही हैं ! यह ठीक है कि सुविधाएं हैं तो उनकी कीमत भी होगी और वह लोगों से वसूल भी की जायेगी लेकिन सुविधाएं देने के नाम पर ग्राहकों के साथ ठगी और धोखाधडी की जाये और वह भी कोई सड़कछाप कम्पनी ना होकर अगर टाटा की कम्पनी इस धोखाधडी को अंज़ाम दे तो बाकी की कम्पनियों से तो भला क्या उम्मीद की जा सकती है !

टाटा समूह की एक कम्पनी बाज़ार मे अपने बेहद लोकप्रिय इंटरनेट डेटा प्लान-‘टाटा फोटोंन” को बेच रही है -इसके 20GB प्लान की कीमत प्रतिमाह 1000 रुपये है-इनके और भी बहुत सारे प्लान हैं लेकिन इनकी कारगुजारियों को समझाने के लिये मैं सिर्फ एक ही प्लान का जिक्र कर रहा हूँ ! इस कम्पनी के जिस फर्ज़ीवाड़े का जिक्र मैं करने जा रहा हूँ वह इसके सभी डेटा प्लान्स पर लागू होता है ! मेरे पास भी कम्पनी का यही 20GB वाला प्लान है जिसकी प्रतिमाह कीमत 14/7/2015 तक 1000 रुपये है ! 15/6/2015 को कम्पनी की तरफ से एक ई-मेल सभी ग्राहकों को भेजा गया जिसमे लिखा था-“आगामी 15 जुलाई 2015 से शुरु होने वाले बिलिंग पीरियड से कम्पनी अपने सभी मौजूदा डेटा प्लान्स बंद कर रही है और मौजूदा ग्राहकों को नये डेटा प्लान्स पर शिफ्ट किया जा रहा है ! अभी तक आप 1000 रुपये प्रतिमाह देकर 20GB का प्लान इस्तेमाल कर रहे है लेकिन अब 15/7/2015 से आप को सिर्फ 8GB का प्लान मिलेगा और वह भी 1200 रुपये प्रतिमाह की कीमत पर !” यानि कीमतों मे सीधे सीधे 300 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी !

इस सारे मामले मे सबसे ज्यादा मुख्य बात यह है कि जब कम्पनी से आप यह डेटा कनेक्शन खरीदते हैं तो आपको 1999 रुपये का एक डेटा कार्ड भी लेना होता है -अब अगर कोई ग्राहक यह समझता है कि उसे कोई दूसरी कम्पनी कम कीमत पर इंटरनेट डेटा प्लान्स देने के लिये तैयार है तो वह ऐसा कर सकता है लेकिन उसे नये सिरे से नयी कम्पनी का डेटा कार्ड खरीदना पड़ेगा और मौजूदा डेटा कार्ड मौजूदा कम्पनी वापस नही लेगी जिसका नुकसान आपको उठाना पड़ेगा !अगर कम्पनियाँ अपने डेटा प्लान की कीमते बढ़ाते समय ग्राहकों को यह विकल्प दें कि 1999 रुपये मे दिया गया डेटा कार्ड उनसे वापस ले लिया जायेगा और उसके पैसे लौटा दिये जायेंगे तो बात फिर भी समझ मे आती है लेकिन कम्पनी ने ऐसा करने से साफ मना कर दिया है जिससे यह बात साबित हो गयी है कि टाटा समूह की यह कम्पनी ग्राहकों के साथ धोखाधडी करने पर आमादा है !

क्योंकि यह मामला सरासर दिन दहाड़े डकैती और धोखाधडी जैसा है, मैने कम्पनी के उच्च अधिकारी उमेश शुक्ला से बात की-उनका कहना यही था कि वे इस मामले मे कुछ भी कर पाने मे असमर्थ हैं-कम्पनी के उच्च अधिकारियों को कई ई-मेल भी भेजे गये लेकिन वहां से भी अभी तक कोई जबाब नही आया है ! दूरसंचार विनियामक प्राधिकरण(TRAI ) को भी मामले की पूरी जानकारी देकर मामले मे हस्तक्षेप करने को कहा गया है लेकिन हर जगह अंधेरगर्दी इस तरह फैली हुई है कि कोई कुछ भी करने के लिये तैयार नही है ! मामला तो यह प्रतिस्पर्धा आयोग के हस्तक्षेप का भी है क्योंकि जब और कम्पनियाँ इसी तरह के डेटा प्लान्स मौजूदा कीमतों पर दे रही है और अपनी कीमतें नही बढ़ा रही हैं तो सिर्फ टाटा को कीमतों मे यकायक 300 प्रतिशत का इज़ाफा करने की क्या जरूरत पड गयी !

उम्मीद यही की जाती है कि दूरसंचार मंत्रालय इस मामले मे सख्त कदम उठाते हुये टाटा समूह की इस दिन दहाड़े की जाने वाली ठगी,लूटपाट और धोखाधडी का संज्ञान लेगा और मामले मे जितनी जल्दी हो सके, कार्यवाही करेगा !

-rajeevg@hotmail.com

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग