blogid : 14497 postid : 1320458

लघु व्यापारियो पर योगी की पुलिस का अत्याचार

Posted On: 23 Mar, 2017 Others में

मेरा भारत महानAn initiative to keep the truth in front of everyone

Riyaz Abbas Abidi

53 Posts

22 Comments

UP में शराब बन्दी कब

शराब बंदी कब होगी

उत्तरप्रदेश में जब से नई सरकार के रूप में योगी आदित्यनाथ की सरकार आई है सब के मन में एक सवाल सता रहा है की किया मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अपनी नई सरकार बिना भेदभाव चला पायेगे?

योगी आदित्यनाथ की सरकार ने सब से पहला खदम Slaughterhouse बंद करने के लिए लिया है जो की एक स्वागत योग्य खदम है, पर सवाल यह भी उठाना वाजिब है कि जितनी जल्दी Slaughterhouse बंद करने की है उतनी जल्दी शराबबंदी पर क्यों नहीं है?

शराब बंदी पर सवाल उठाना इस लिए आवश्यक है क्यों की बलात्कार, लूट आदि जैसे पापो को शराब पीकर ही अंजाम दिया जाता है जिस पर अंकुश लगाने के लिए शराब बंदी आवश्यक है, भाजपा शासित गुजरात राज्य में शराबबंदी हो सकती है तो उत्तरप्रदेश में भी संभव है पर आखिर कब?

UP में बूचड़खाने बंद किये जा रहें हैं, हम तो यह कहते हैं की कल को बंद करने के बजाये आज ही बंद कर कर दीजिये, वैसे भी चौपायों का मांस खाकर लोग बीमार ही होते हैं!

चौपायों और गाय के मांस से बुद्धि कम होती है

इस्लाम के प्रवक्ता हज़रत मोहम्मद मुस्तफा (स अ व) के पुते इमाम रज़ा (अ.स) ने अपने एक कथन में फ़रमाया है, कि शिकारी चौपायों (पशुओं) और गाय का गोश्त (मांस) ज्यादा खाने से अकाल (बुद्धि) में फ्तौर(मनोभ्रंश) आता है जहन भद्दा हो जाता है और भूल पैदा होती है!

कई लोगोंकोलगता है मुस्लमान गाय खाना पसंद करते हैं पर यह ग़लत है क्यों की गाय हिन्दू धर्म में आस्था का प्रतीक है इस कारण से सभी मुस्लमान हिन्दू भाईओं का सम्मान आदर करते हैं इस लिए मुस्लिम समाज गाय नहीं खाता है, और सभी मुस्लमान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का स्वागत कर रहे हैं की वे अवेध बूचड़खाने बंद करा रहें हैं!

जैसा के भाजपा का बूचड़खाने बंद करने का तर्क है कि उत्तरप्रदेश की भाजपा सरकार बूचड़खानों को बद करने से जानवरों की हत्या रोक कर उनकी जनसँख्या को बढ़ाने के सफल होंगे, पर यहाँ सवाल यह कि जो इन्सान जहर (शराब) पीकर अपने पुरे परिवार और समाज को रुला रहें हैं उसको कौन रोकेगा ? और सब से बड़ा सवाल तो यह है की बूचड़खाने बंद होने से जो लोग बेरोजगार होंगे क्या उनका जीवन चक्र चलाने के लिए उत्तरप्रदेश की नई सरकार के पास कोई योजना है?

सोशल मीडिया पर एक जबरदस्त प्रचार किया जा रहा है की हिंदूवादी सरकार ने मुसलमानों का खाना ही बंद कर दिया क्या ऐसे लोगों पर अंकुश लगाने की आवश्यकता नहीं है जो राज्य में अराजकता फेलाने की कोशिश कर रहें हैं? जब की सत्य तो यह है कि चौपायों का मांस केवल मुस्लमान ही नही खाते हैं बल्कि हिन्दू समाज का भी एक बहुत बड़ा हिस्सा मांसाहारी है फिर ऐसे प्रचार से लोग साबित करना क्या चाहते हैं?

लघु व्यापारियो पर योगी की पुलिस का अत्याचार

खबरे तो यहाँ तक हैं की उत्तरप्रदेश की पुलिस मुस्लिम इलाको में हलीम – चावल के ठेले लगाने वालों पर लाठी मार मार कर उन्हें भगाया जा रहा है आखिर ऐसे कमज़ोर तबके के लघु व्यापारियो के साथ ऐसा अत्याचार क्यों? जब कि दूसरी तरफ छोला पूरी का ठेला लगाने वाले  मजे से अपना कारोबार कर रहा है क्या योगी आदित्यनाथ की सरकार इसी तरह 5 वर्षों तक राज्य में अपना शासन करेगी? इस के अलावा उत्तरप्रदेश की पुलिस जबरन  मछली – मुर्गा की दुकाने भी बंद करा रही हैं प्रशन यह है क्या योगी आदित्यनाथ की सरकार उत्तरप्रदेश में मछली – मुर्गा पर भी पाबन्दी होगी? यदि ऐसा है तो मछली पालकों वे Poultry Farm वालो के भविष्य का किया होगा?

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग