blogid : 15204 postid : 1369857

'तू चाय बेच': प्रधानमंत्री मोदी को कांग्रेस ने फिर किया अपमानित

Posted On: 22 Nov, 2017 Others में

सद्गुरुजीआदमी चाहे तो तक़दीर बदल सकता है, पूरी दुनिया की वो तस्वीर बदल सकता है, आदमी सोच तो ले उसका इरादा क्या है?

sadguruji

534 Posts

5685 Comments

कांग्रेसियों की सामंती सोच एक बार फिर देश के सामने उजागर हुई है. यूथ कांग्रेस की ऑनलाइन मैगजीन ने एक मीम (नक़ल, कार्टून या मजाक) के जरिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को ‘तू चाय बेच’ कहकर संबोधित और अपमानित किया है. ट्विटर हैंडल ‘युवा देश’ के जरिए पोस्ट किए गए मीम में मोदी को चायवाला बताकर मजाक बनाया गया था, जिसे बाद में यूथ कांग्रेस की मैगजीन के आधिकारिक हैंडल से हटा दिया गया. कांग्रेस की यह कैसी घृणित और अलोकतांत्रिक सोच है कि भारत में शासन करने का अधिकार सिर्फ उन्ही के पास है? एक चाय बेचने वाला भारत का प्रधानमंत्री नहीं बन सकता है, कांग्रेस की राजशाही वाली यह सामंती सोच अब देश में नहीं चलेगी, क्योंकि देश की जनता उसकी गुलाम नहीं है.

- (2)

वैसे भी ‘मोदी युग’ में हिन्दुस्तान की जनता अब पूरी तरह से जागरूक हो चुकी है. लोकतंत्र में ऐसी राजतंत्र और तानाशाही वाली घटिया सोच कांग्रेस की जनता के दिल में बची खुची पुरानी इमेज को भी पूरी तरह से बर्बाद कर देगी. गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने इस पर प्रतिक्रिया देते हुए बिल्कुल सही कहा है कि ‘तू चाय बेच’ के बयान से कांग्रेस पार्टी ने गुजरात का अपमान किया है. ऐसा लगता है कि कांग्रेस के लिए अब कुछ भी नहीं बचा है. यह सारे देश के गरीबों का अपमान है.’ इस मीम के जरिये कांग्रेस ने सिर्फ गुजरात का ही अपमान नहीं किया है, बल्कि उसने तो पूरे देश का अपमान किया है, क्योंकि जनता द्वारा चुना गया प्रधानमंत्री किसी पार्टी का नहीं, बल्कि पूरे मुल्क का संवैधानिक मुखिया होता है.

कांग्रेस ने मोदी के नाम पर वोट देने वाली देश की करोडो जनता का भी अपमान किया है. यही नहीं, बल्कि उसने इस कार्टून के जरिये अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप और ब्रिटिश प्रधानमंत्री थेरेसा का भी अपमान किया है. कांग्रेस की गलती किसी भी तरह से माफ़ी के लायक नहीं है. कांग्रसी क्या 2014 का लोकसभा चुनाव भूल गए, जब कांग्रेसी नेता मणिशंकर अय्यर ने बड़े अहंकार से भरे शब्दों में मोदी के लिए कहा था, ‘पीएम पद की कोई वेकैंसी नहीं है. हां, मोदी चाहें, तो यहां चाय बेच सकते हैं.’ इसका परिणाम क्या हुआ सब जानते हैं. कांग्रेस की अब तक की सबसे बुरी ऐतिहासिक हार हुई. कांग्रेस ने मोदी के लिए की गई उस बदजुबानी से और करारी शिकस्त से कोई सबक सीखा हो, ऐसा नहीं लगता है.

अब फिर वो मोदी को अपमानित करते हुए कह रहे हैं कि ‘तू चाय बेच’. इस समय गुजरात का चुनाव सामने है. ऐसे में कांग्रेसियों को मोदी का इस तरह से मजाक उड़ाना बहुत भारी पड़ सकता है. कांग्रेस के लोंगो के ऐसे बयान और घटिया दर्जे के निंदनीय मजाक खुद अपने ही पैर पर कुल्हाड़ी चलाने जैसे हैं. जम्मू-कश्मीर के पूर्व सीएम उमर अब्दुल्ला ने इसे कांग्रेस पार्टी द्वारा की जाने वाली राजनीतिक आत्महत्या कहा है. उमर अब्दुल्ला अच्छी तरह से जानते हैं कि देश के प्रधानमंत्री के खिलाफ ऐसे बेहूदा मजाक से गुजरात में कांग्रेस अपनी लुटिया डुबो देगी, इसलिए वो इसे राजनीतिक आत्महत्या करार दे रहे हैं.
उमर अब्दुल्ला विपक्षी खेमे में कांग्रेस पार्टी के सहयोगी हैं, इसलिए उनका बयान महत्वपूर्ण है.

हालाँकि कांग्रेस के प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने सफाई देते हुए कहा है कि पार्टी इस तरह के ह्यूमर को खारिज करती है. अब पार्टी जो चाहे कहे, कांग्रेस को जो नुक्सान होना था वो तो हो चुका. उसे गुजरात में इसका भरी नुकसान झेलना पड़ सकता है. भाजपा इसे मुद्दा बना दी है. केन्द्रीय मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने पूछा है कि मैडम सोनिया गांधी और श्रीमान राहुल गांधी क्या भारत में शासन करने का सिर्फ आपके पास ही दैवीय अधिकार है? क्या चाय बेचने वाले के परिवार में या गरीबी में जन्म लेने वाला एक व्यक्ति भारत जैसे महान लोकतांत्रिक देश का प्रधानमंत्री नहीं बन सकता है? युवा कांग्रेस का ट्वीट शर्मनाक और गरीबों का अपमान करने वाला था, इसमें कोई संदेह नहीं. गरीबों के प्रति उनकी घटिया और सामंती सोच बेनकाब हो गई.

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (5 votes, average: 4.20 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग