blogid : 12745 postid : 1342782

यश मालवीय

Posted On: 17 Jan, 2019 Others में

संजीव शुक्ल ‘अतुल’कुछ मन की बातें

sanjeev shukla

26 Posts

6 Comments

स्थगित है गति, समय का रथ रुका है,
कह रहा मन बहुत नाटक हो चुका है
प्रश्न का उत्तर कठिन है, इसलिए भी
प्रश्न सौ-सौ बार टाला जा रहा है
~यश मालवीय

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग