blogid : 4243 postid : 740337

मूरख पंचायत ,...चुनाव चर्चा !

Posted On: 11 May, 2014 Others में

हमार देशएक आम आवाज

Santosh Kumar

238 Posts

4240 Comments

आदरणीय मित्रों बहनों गुरुजनों ,…सादर प्रणाम ………….. कटाई मड़ाई से निवृत्त होकर आपके मूरख लोग

फिर जम गए ,…….आँखों देखे हाल में पुनः आपका हार्दिक स्वागत है !…

……………………..

सबके बैठते ही सूत्रधार बोले ………. “……सबको राम राम परनाम है ,……चुनावी संग्राम आखिरी मुकाम पर आ गया है ,….कल धर्मयुद्ध दो हजार चौदह का आखिरी मतदान है …अबकी देश को अच्छी सरकार मिलेगी !…”

एक उत्साही युवा ने काटा …………“..देश को मोदी सरकार मिलेगी !…….पूरे चुनाव में जबरदस्त मोदीमय लहर रही !…..विपक्षियो का सफाया पक्का है !…धर्म की विजय निश्चित है !..”

……..“……पूरा चुनाव में गांधीमय विरोधी कुनबा मुद्दे पर एक बात न किया !…..बस जीभरकर गरियाया ..चाटू जबानों ने जहरीला जहर उगला !….”……….एक ने स्वाद कसैला किया तो पीछे से आवाज आई

“..मुद्दे पर बात करे की औकाते कहाँ बची !…….लुटेरे अपनी लूट घोटाले हरामखोरी मंहगाई बीमारी बेकारी बतियाते का !……… मोदीजी सशक्त भारतपुत्र हैं ,…… विरोधी जबरदस्त कुकुरबजारी करते रहे ,…..ऊ शान से देश जोड़ते रहे !….उनकी ऊर्जा सहनशक्ति कर्मठता बेमिशाल है ,….सबके सब दांव फेल !..जनता बुलाये बस मोदी मोदी !……”

एक और युवा बोला ….. “.. सब धड़ाम चित्त हो गए !………..गरियाने वाले सफेदपोश लुटेरे सोलह के बाद मुंह कैसे दिखायेंगे !.”

बगल बैठे मूरख ने उत्तर दिया ………“… तैयारी जोरशोर से चालू है ,…मनमोहन बकरा बनेंगे !….राहुल भैय्या तूफ़ान के मांझी जैसे दिखाए जायेंगे …….प्रियंका गांधी की तैयारी है !…..”

“…उनकी हालत ताकत सब देश का देखा सुना हैं ,…..खुद चोरी करने के बाद भौकना मजबूरी है ,….लेकिन भैय्या !!…. गाली देने में कांग्रेस संस एंड बैंगन कंपनी हम मूरखन से कुछ प्रेरणा लई लागे !…”…………..पीछे वाले युवा ने शेखी बघारी तो कोने वाले बाबा बोले .

“…प्रेरणादायक देश से कौनो अच्छी प्रेरणा लिए होते तो विदेशी गुलाम बर्बाद न होते ,……बाप दादाओं से लेकर आज तक ई गद्दार हमको नोचते आये हैं ,…..उनको बेहिचक गरियाना हमारा फर्ज कर्ज दोनों है !……हमको लूटने वाले गद्दार लोग देशभक्त नेता को गरियायेंगे तो उल्टी मारे खायेंगे !……पेटदर्द का इलाज बुखारी गोली से कैसे होवे !….उकी खातिर सही इलाज करना होता है …परहेज संयम रखना पड़ता है !…”

बाबा की बगलगीर माता बोली ………“..हर सीमा से बढ़कर देश खाने वाले खाऊ दलाल का संयम रखेंगे !……..उन्होंने हर जुगाड़ से मोदी को घेरा फिरौ सब फेल !……”

बाबा फिर बोले …………..“….वोट बैंक खातिर बंग्लादेशी घुसपैठिये कांग्रेस ने बसाए !…….आतंकवाद ऊ बोये ,…. आतंकवादी उसने पाले बढाये ,…..सब दंगे हिंसा कांग्रेसी पालतुओं ने कराये ,……फिर जिम्मेदारी सब मोदी की बताते हैं ,….जनता और जोरदार लात मारी !..”

पीछे से एक मत आया ……“..असमी दंगे देश भर के मुसलमानों को खौफजदा करे खातिर कराये गए !…कांग्रेस ने कराये हैं ,…औरो करा सकते हैं !…..ई वाकई मौत के सौदागर हैं !..”

आगे से युवा ने सहमति भरा उत्तर दिया ………….“..कश्मीर से कन्याकुमारी तक सब लुटेरे खौफ में हैं !…….पक्का ईमानदार सच्चा देशभक्त पूरी ताकत से प्रधानमंत्री बना तो गांधियों के साथ सैकड़ों कुनबे …और ..हजारों भारी भ्रष्टाचारी बर्बाद हो जायेंगे !……ई लिए सियार रुदन चलता है !…शैतान मंडली और शैतानी करे खातिर कमर कसे हैं !….”

“..सियार रुदन अपनी जगह ठीक है ,….लेकिन बच्चा गांधी गिनकर बाईस हजार हत्याओं की भविष्यवाणी कैसे किया !….कौन रिपोर्ट गिनती पढ़ी है !…”………….बुद्धिजीवी टाइप वाले ने नया सवाल उठाया तो साथीउत्तर दिया …

“..सत्ता खातिर साजिश दंगा हत्या कराना आदिम कांग्रेसी फितरत है ,….पहिले हम पुराने गांधी द्वारा गधा बनाए गए थे ,….अब तनिक सा परमोशन लेकर मूरख बने हैं !……गांधियों ने पूरा हिसाब लगाया होगा कहाँ कैसे कितने मारने है !…..देश क्रूर लुटेरे पंजे से छूटा है ,…पिटे लोग सब काली कुटिल तरकीबें लगायेंगे !……पुराने सजिशबाज लोग लाशों के ढेर पर फिर सत्ता के ख़्वाब सजायेंगे !…….का पता विदेशी टट्टू मोदियो पर हमला करवाएं !….”….

बुद्धिजीवी जैसा मूरख फिर पलता ……..“…हुशियारी जरूरी है ,…लेकिन मोदीजी इनकी औकात से बहुत ऊपर हैं ,…………काले ख़्वाब देखने वाले भेड़िये दुर्गम दुर्गति भोगेंगे !……….कौनो देशभक्त के बाईस बालो बांका किये ..तो … सनातन मानवधर्मी देश अपराधी को क्रूरतम सजा देगा !………राष्ट्रभक्त सत्ताधीश अपनी प्रजा से अथाह प्रेम करता है ,….सपने में कौनो नुक्सान का ख़याल कैसे सोचेगा !…..”

एक बाबा उकताए ………..“..अरे काहे फालतू लोगों की बात सुनते हो !…..सब यक़ीनन अपनी अपनी करनी भोगेंगे ,…चुनाव नतीजा का अंदाजा का है !…”

उत्साही युवा ने उत्तर दिया …………“..चुनाव आयोग को निकाल दो तो अकेली भाजपा सवा तीन सौ के पार है ,….संगी साथी मिलकर दो तिहाई बहुमत से ऊपर जायेंगे ,….”

एक महिला ने प्रतिवाद किया ………..“..चुनाव आयोग काहे निकालें !…..जबरदस्त मतदान कराया है ,… ज्यादा बवालो न होने दिया !….”

लाल कमीज वाला जोर से बोला ……..“..बम्पर मतदान खातिर जनजागरूकता जिम्मेदार है ,..स्वामीजी का महान पुरुषार्थ देश के काम आया ,…फिरौ दब्बू चुनाव आयोग उनपर पाबंदी लगाया ,..सबने साफ़ सुथरे ज्यादा मतदान की अलख जगाई ,….फिरौ तमाम जगह बूथ कब्जाए गए ,…चुनाव आयोग मौनी बाबा बना रहा ,………फिरोजाबाद में समाजवादी गुंडे पोलिंगों पर कब्ज़ा किये ,…..अखिलेश की पुलिस ने भाजपाइयों को दौड़ा दौड़ाकर कर पीटा ….चुनाव आयोग का किया !!……बंगाल में ममतामयी गुंडई का नंगा नाच हुआ ,…..जुझारू दीदी ने जमीनी बामपंथी बदमाशों को अपना सहायक राजदार बना लिया है ,….बामपंथियों से लड़ने वाली ममता अब बामपंथी से मिलकर सत्ता चाहती है ,….झूठे वोट बैंक खातिर देशभक्तों को गरियाती हैं !..”

साथ बैठा साथी बोला ……“…..उनकी छोड़ो …बिहार में तमाम बूथ कब्ज़ा हुआ है ,……अमेठी में प्रियंका वाड्रा शरेआम गुंडों को गुप्त मीटिंग खातिर बुलाई ,….छोटा गांधी हथियार एसपीजी समेत डटा रहा ,….तमाम पोलिंगों पर पालतू कांग्रेसी कार्यकर्ताओं का राज रहा ,……कुमार विश्वास की शिकायत पर आयोग ने सोते सोते सीडी मांगी !…आखिरी चरण में भारी निजी सरकारी गुंडई कराने की व्यवस्था लागे !….मुलायम की हार रोके खातिर प्रदेश सरकार हर बदमाशी करेगी !…”

एक अधेड़ हल्की मुस्कान से बोले ……..“..कुछौ करें !…..व्यवस्था उनकी सफाई की है !….ममता वाड्रा गांधी माया मुलायम सब अन्दर तक हिले हैं ,..चार दिन बाद रोयेंगे !……..लेकिन चुनाव आयोग बहुत दाब में रहा ,…बेदाग़ देशभक्त मोदी पर चौतरफा जहरीले तीर चले .. चुनाव आयोग लकीर पीटता रहा !…….बनारस में मोदी की सभा न हो पायी ,…वहीँ राहुल को खुली छूट मिली ,…..नामांकन वाले दिनो उनके भाषण पर आयोग ने पाबंदी लगाई थी ,…बाकी किसी पर पाबंदी न लगी !…”

………“..काहे न लगी !……आजम खानौ को रोका !…”…….एक ने चुटकी ली तो मरियल से बाबा बोले

“…ऊ गहरी बात है ,…..हम कैसे समझेंगे ,… निष्पक्ष दिखने खातिर आजम को बकरा बनाया  ,…….आजम खान को खुद मुलायम कांग्रेस ने मिलकर ठिकाने लगाया है ,…डरे मुसलमान बेचारे जायेंगे तो कहाँ …सहानुभूति इनके साथ रहे ….. फिर काहे समाजवादी खानदान से बाहर का कोई ताकतवर बने ,……सब मुसलमानी वोट खातिर खुलकर जहर गन्दगी उगलते रहे ,..तब चुनाव आयोग काहे न बोला !……आजम का बोला था ,..यही न कि देश बचाने खातिर मुसलमानो शहीद हुए हैं !…”

पीछे से एक चाचा बोले ……………“…कौन कहा मुसलमान देशभक्त नहीं हैं ,….मोदी ने नेताजी के संगी सिपाही निजामुद्दीन के पैर छूकर आशीर्वाद लिया ,…ई देशभक्ति है ,..देशभक्तों का सम्मान है !…….टोपी पहने पहनावे वाले दिखावेबाजों को का कहना !..ऊ देशभक्ति बेंच खाए हैं ,…….अंग्रेजों वाली कान्ग्रेसियत राज में हिन्दू मुसलमानी नफरत जहर भरने का जुगाड़ जारी है ,….. निजी चांदी खातिर मुसलमान का झूठा मसीहा बनना मजहबो से मक्कारी है ,……आजम खान को इंसान कहाँ दिखता है !….ऊ भारत माता को गरियाकर अपनी शान दिखाता है……..ऐसे लोगों को एकदिन अल्ला मिंया सुधारेंगे !…”

एक और चाचा बोले ………….”…कांग्रेसी दांवपेंच समझो !…….आजम के खिलाफ आम जनता में गुस्सा है ,….यही लिए पाबन्द कराया गया …..मुसलमानी इलाकों में जमकर गुप्त परचार किया ,…मुलायम आयोग की मिलीभगत से हिन्दू समर्थक पालतू बने रहें ,…मुसलमान हैय्ये हैं !…”

एक युवा बोला ………..“..अरे चचा ..छोड़ो आजम मुलायम आयोग को !…..सब उड़ गए …..रामपुर में उखड़ी कुर्सी कालर बचाने खातिर बूथ कब्जाया था ,..वहां दुबारा वोटिंग हो गयी !……”

………….“..लूटतंत्र के मक्कार सिपाहियों को कुर्सी के आगे इंसान कहाँ दिखता है !……सेकुलराई मलाई के आगे सच झूठ में फरके नहीं लगता !…..”……………एक और मत आया तो कुछ पल के लिए बेचैन सी शान्ति आ गयी ,……फिर एक पंच बोले

“..भैय्या हम एक बात कहते हैं ,….ई लोग मजहबी दंगे करवाने खातिर सब जुगाड़ लगायेंगे ,… हमको इनकी चाल समझना चाहिए …..मोदी राज में सबका उत्थान होगा ,...ऊ बार बार कहे हैं कि हमको आपस में नहीं मिलकर भूख गरीबी बीमारियों से लड़ना है ,……मानवता के सामने और बहुत खतरे हैं !..”

एक युवा ने तंज किया ………“..ओ चाचा .. मानवता के खतरे बाद में खोलियो ,.शैतान मंडली खुदै निपट जाई ….तुम पहिले चुनाव की निपटा लो !..”

दुसरे पंच बोले ……….“…सत्ताई हाहाकारी में चुनाव आयोग को चवन्नी बधाई बनती है ,…..बस मशीन में गड़बड़ घोटाला न कराया हो !…… देश के तमाम कर्मठ कर्मचारियों को पूरी बधाई है ,…सब देशवासियों को बहुत बहुत बधाई है !……देश कृतज्ञ है राष्ट्रऋषि स्वामीजी का … उनके महान पुरुषार्थ से डूबते भारत को मोदी जैसा काबिल खेवनहार मिला !…”

“..अच्छा दल केजरीवाल आप के का हाल हैं !….”………..एक युवती ने सवाल किया तो एक भाई विशेषज्ञ के अंदाज में बोला

“..अपना पूरा जोर लगाए हैं ,…. दो तीन दर्जन सीटों पर दुसरे तीसरे नंबर पर आ सकते हैं ,…. पंजाब से खाता खुल सकता है !…..कलाकार भगवंत मान मक्खन जीते तो आनंद आएगा !…महाभ्रष्ट बादलों को जोरदार लप्पड़ लागी !…”

…………“…..केजरीवाल जितनी ताकत बनारस में खपाए ऊकी चौथाई अमेठी में लगाते तो कवि विश्वासो संसद में मस्त कविता सुनाते !…”…………..दुसरे युवा ने अपना मत रखा तो पंच साहब फिर बोले

“..केजरीवाल अपनी पूरी ताकत झोंके हैं ,….कांग्रेसी डबल माफिया से आगे रहे तो लोकतंत्र खातिर अच्छा होगा !…”

दुसरे पंच ने काटा …………“…अच्छा बुरा सब समय बताई !……..भ्रष्टाचार की खिलाफत में खड़े हुए थे ,……सोनिया खुर्शीद राजा के खिलाफ लड़ते तो देश को तनिक यकीन होता !……… मोदी के खिलाफ संप्रदायी भौकाल लादकर लड़े ,….संसदी चुनाव में मोदी के आगे जनलोकपाल का नामै भूल गए ,…ई इनके मूल मुद्दे का असल हकीकत है ,…… झूठे आंकड़े लेकर जनता को भरमाते हैं ,…..दिल्ली सरकार का हर मंत्रालय फ़ाइल मोदी के गुण गाती है ,….गांधी केजरीवाल सब मोदी की खिलाफत में बेचैन हैं !..”

तीसरे पंच भी कूदे ………“……चलो खिलाफ़तो जरूरी है ,..यहै लोकतंत्र का मजा मिजाज है !…भाजपा एनडीए से पूरी उम्मीद का नाम केवल मोदी हैं ,……बाकी का कौनो भरोसा नहीं ,..कौन कौन कितना खाऊ है ,…..महाखाऊ गांधियों का उखड़ना जरूरी है बस !…”

“..ऊ तो उखड चुके हैं ,…बीस सीट जीते तो जोरदार पार्टी करेंगे !….”………….बुद्धिजीवी का साथी बोला तो एक बाबा उबले ……………..क्रमशः


Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग