blogid : 954 postid : 81

ज्योतिष : ४. कालसर्प योग

Posted On: 19 Jun, 2010 Others में

Dharm & religion; Vigyan & Adhyatm; Astrology; Social researchDharm & Religion- both are not the same; Vigyan & Adhyatm - Both are the same.....

Er. D.K. Shrivastava Astrologer

157 Posts

309 Comments

अगर आपको कालसर्प योग है अर्थात आपके सारे ग्रह राहू एवं केतु से घिरे है तो – प्रिये दोस्तों, कृपया इसे आजमाए एवं आप निश्चित ही अपने को पहले से बेहतर पायेगे –
Dear friend, please go through these and you will get the relief certainly…

कालसर्प योग निवारण के लिए ( Kalsarp yog निवारण ) –

१. आप नासिक जाये ( त्रिंबकम मंदिर – महा शमशान , मुंबई के नजदीक ) एवं कालसर्प शांति त्रिंबकम मंदिर में कराये | ये सदा के लिए कालसर्प योग का निवारण कर देगा | नासिक छोड़ कर दूसरा कोई जगह इस काम के लिए इंडिया में नहीं है | इस पूजा में करीब ३ घंटे लगते है |
1. You go to Nasic (Trayambakeswar temple i.e Maha samsan- Near Mumbai) for puza specified for Kalsarp yog (Puza time 3 hrs); This is only one place in India for this worship for complete relief for ever.

२. नाग पंचमी (सावन महीने के शुक्ल पक्ष पंचमी को ) को शिव मंदिर में रुद्राभिषेक नमक चमक विधि द्वारा कराये, ये एक साल के लिए दोष का निवारण करेगा, अगर फायदा समझ में आये तो इसे हर साल कराएँ |
2. You can do Rudrabhisek on Nag panchami i.e. Sukl pakchh5 by Namak-chamak bidhi in Sawan month in any Shiwalay for one year relief and if you fill better, be continue for years.

३. राहू मन्त्र का जाप करे – ॐ रं राहवे नमः ( ७२००० )
3. Jap the Rahu mantra – Ohm Ram Rahve namah – 72000 times.

४. चांदी का नाग-नागिन बनवा कर इसकी प्राण-प्रतिष्ठा करे और इसे बहते जल / नदी में ब्रहम मुहूर्त में प्रवाहित कर दे |
4. Do Pran-pratistha of Nag-Nagin made by Silver and then leave it in flowing water/River at Brahm-muhurt.

५. ताम्बे का सर्प बनवा कर इसकी प्राण-प्रतिष्ठा करे और इसे किसी शिवालय में ब्रहम मुहूर्त में छोर देवें |
5. Do Pran-pratistha of sarp made by Copper and then leave it in Shiwalay at Brahm-muhurt

६. घर से बाहर निकलते समय दूर्वा/पीपल/आम के पत्ते से अपने ऊपर पानी छिड़क देवें | यह दिन भर के लिए कम करता है |
6. Sprinkle water by the leaf of Durva/Pipal/Aam daily before going outside the house.

७. रूद्र-सूक्त जल से स्नान करे |
7. Bath by Rudr-sukt jal.

८. सप्त-धातु से बने श्री नागपाश यंत्र को रोज सुबह में दर्शन करें |
8. See daily in the morning the Nag-pash yantr made by Sapt-dhatu.

९. शिव पूजा करें |
9. Shiv puza kare. (Worship the God Shiv).

कालसर्प योग निवारण का उचित समय : –

१. सावन महीने के शुक्ल पक्ष पंचमी (नाग पंचमी ) को
२. किसी भी महीने के शुक्ल पक्ष पंचमी को
३. सोमवार को किसी भी शिवालय में |

नोट : – १. घर में किसी मांगलिक कार्य / शादी होने पर १-साल तक कालसर्प-शांति न कराये |
1. Don’t do Kalsarp shanti upto 1-year of any Manglic kary eg Marriage/Any Important Puza etc.

२. अगर पत्नी गर्भवती हो तो कालसर्प शांति न कराये |
2. Don’t do Kalsarp shanti if wife प्रेग्नंत.

With love धीरज कुमार 9431000486.

Tags:

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग