blogid : 10099 postid : 631396

ज़िन्दगी ......

Posted On: 22 Oct, 2013 Others में

kavitaJust another weblog

seemakanwal

72 Posts

1055 Comments

हैरान ,परेशान,बियावान ,ज़िन्दगी
देती कभी आंसू ,कभी मुस्कान ज़िन्दगी .
महलों ,मकानों ,मोटरों को देख सोचता हूँ मैं
काश होती मेरी भी आलीशान ज़िन्दगी .

शोहरत का जुनूं खींच लाया इस मोकाम पर
रास आ गयी उन्हें ,बदनाम ज़िन्दगी .
यूँ ही किसी मोड़ पर आई जो याद तेरी
लगने लगी धुप में सायबान ज़िन्दगी .

अपने कद्रदानों में खो गये हो तुम
अच्छी भली थी वही गुमनाम ज़िन्दगी
कँवल ख्वाहिशों की हद में रहो
मुश्किल बहुत ,है नहीं आसान ज़िन्दगी .

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग