blogid : 5235 postid : 129

चलिए देखते हैं UPA का रिपोर्ट कार्ड

Posted On: 22 May, 2012 Others में

एक नजर इधर भीएक ब्लॉग अपने देश के नाम

shaktisingh

25 Posts

209 Comments

upaजनता के विद्यालय में उत्साह का महौल था चारो तरफ विद्यालय में विद्यार्थी ही नजर आ रहे थे मौका था विद्यार्थियों को उनके रिपोर्ट कार्ड के बारे में बताने का. विद्यार्थी भाजपा का राज्यों में काफी निराशाजनक प्रदर्शन रहा. कई मोर्चों पर इन्होंने जनता के विद्यालय की गरिमा को ठेस पहुंचाई. समय-समय पर इनके कर्मों की वजह से विद्यालय को शर्मिंदगी महसूस करनी पड़ी.


यही हाल विद्यालय के दूसरे विद्यार्थी का रहा जिसमें शामिल हैं समाजवादी पार्टी, बहुजन समाजवादी पार्टी, एआईडीएमके, बिजू जनता दल आदि लेकिन इन सब में विद्यालय का नाम और इज्जत को नेस्तनाबूत करने में सबसे ज्यादा योगदान संप्रग का रहा. यह कई विद्यार्थियों का गूट है जिसका हेड कांग्रेस है. इन्होंने पिछले आठ सालों में विद्यालय का नाम खराब करने में अपनी अग्रणी भूमिका अदा की. शुरुआत के दिनों में इनका प्रदर्शन बहुत अच्छा रहा लेकिन धिरे-धिरे गलत कामों में लगकर इन्होंने अपने प्रदर्शन का ग्राफ निचे गिरा दिया.


इनके प्रदर्शन के मामले में पिछला तीन साल और ही ज्यादा खराब रहा. विद्यार्थी कांग्रेस और इनके गुट ने मिलकर विद्यालय को हर स्तर पर नुकसान पहुंचाने में कोई कसर नहीं छोड़ी इसके चलते इन्हे कई बार विरोध का सामना भी करना पड़ा. विद्यालय में इनके खिलाफ आंदोलन भी हुए और इन्हे हटाए जाने की मांग भी उठने लगी. आज भी यह संप्रग अपने कर्मों से बाज नहीं आते.


आइए जानते हैं कैसा है संप्रग का रिपोर्ट कार्ड, निचे इंनके विषय और नंबर दिए गए हैं जो की 100 में से दिए गए हैं.


मंहगाई पर नियंत्रण: 05/100

मुद्रा पर नियंत्रण : 08/100

विकास दर को बढ़ाने में योगदान: 06/100

भ्राष्टाचार को बढ़ावा देने में योगदान; 96/100

कालेधन को बढ़ावा देने के मामले में योगदान: 95/100

गलत नीतियां बनाने में सबसे आगे: 85/100

भ्राष्टाचारियों को बचाने में योगदान: 90/100

पेट्रोल और डीजल के दाम बढाने में: 89/100


Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग