blogid : 14516 postid : 890769

मनन

Posted On: 24 May, 2015 Others में

saanjh aaiJust another weblog

shakuntlamishra

61 Posts

144 Comments

निभृत ,नवीन
जीवन स्वर से
किसकी वीणा है बजी आज !
है पुलक पूर्ण
ह्रदय सम्पूर्ण

शोभा माधुरी है जगी आज !!
सुख के झोके
dukh   की व्यथा
होकर मुखरित वीणा में आज !!!

मनन -शकुंतला मिश्रा

Tags:

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग