blogid : 14516 postid : 867385

संसार

Posted On: 7 Apr, 2015 Others में

saanjh aaiJust another weblog

shakuntlamishra

61 Posts

144 Comments

कभी यूँ ही
सोचती हूँ !
कैसे बना यह संसार ?
तब ह्रदय अनुमान करता
सृष्टि है इतनी मनोरम
श्रिष्टि का करता भी होगा !
रोटी से पहले आटा है
आंटा बना है चक्की में
गेहूं है ,वर्षा है ,धरती है ,
सब के कर्ता भी हैं भगवन !

शकुंतला मिश्रा -संसार

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग