blogid : 12172 postid : 760699

औरत को जूती पैर की ही माने आदमी

Posted On: 1 Jul, 2014 Others में

! मेरी अभिव्यक्ति !तू अगर चाहे झुकेगा आसमां भी सामने, दुनिया तेरे आगे झुककर सलाम करेगी . जो आज न पहचान सके तेरी काबिलियत कल उनकी पीढियां तक इस्तेकबाल करेंगी .

शालिनी कौशिक एडवोकेट

788 Posts

2130 Comments

औरत पे ज़ुल्म हो रहे कर रहा आदमी

सच्चाई को कुबूलना ये चाहते नहीं ,

गैरों के कंधे थामकर बन्दूक चलना

ये कर रहे हैं काम मगर मानते नहीं !

…………………………………………………

औरत को जूती पैर की ही माने आदमी

सम्मान देने रोग मान पालते नहीं ,

ये चाहें इसपे बस हुक्म चलाना

करना भला इसका कभी विचारते नहीं !

………………………………………………….

औरत लुटा दे मर्द पर भले ही ज़िंदगी

वे रहते हैं कभी किसी मुगालते नहीं ,

खिदमत हमारी करना औरत की है किस्मत

करना है कुछ उसके लिए ये जानते नहीं !

……………………………………………………..

जनम-जनम का साथ है पत्नी पति का मांगती

ये पत्नी को दिल में कभी उतारते नहीं ,

चाह रखके बेटों की ये बेटियां हैं मारती

ये बुराई तक माँ के लिए हैं मारते नहीं !

…………………………………………………….

”शालिनी ”की तड़प का है ना सबूत कोई

अपने किये को ये कभी धिक्कारते नहीं ,

बेटी हो या बहन हो ,ये पत्नी हो या माँ हो

अपने को किसी हाल ये सुधारते नहीं !

………………………………………………………….

शालिनी कौशिक

[कौशल ]

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (2 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग