blogid : 12172 postid : 896884

पर्यावरण दिवस -धरती माँ की चेतावनी

Posted On: 1 Jun, 2015 Others में

! मेरी अभिव्यक्ति !तू अगर चाहे झुकेगा आसमां भी सामने, दुनिया तेरे आगे झुककर सलाम करेगी . जो आज न पहचान सके तेरी काबिलियत कल उनकी पीढियां तक इस्तेकबाल करेंगी .

शालिनी कौशिक एडवोकेट

788 Posts

2130 Comments


दुश्मन न बनो अपने ,ये बात जान लो ,

कुदरत को खेल खुद से ,न बर्दाश्त जान लो .



चादर से बाहर अपने ,न पैर पसारो,

बिगड़ी जो इसकी सूरत ,देगी घात जान लो .



निशदिन ये पेड़ काट ,बनाते इमारते ,

सीमा सहन की तोड़ ,रौंदेगी गात जान लो .



शहंशाह बन पा रहे ,जो आज चांदनी ,

करके ख़तम हवस को ,देगी रात जान लो .



जो बोओगे काटोगे वही कहती ”शालिनी ”

कुदरत अगर ये बिगड़ी ,मिले मौत जान लो .



शालिनी कौशिक

[कौशल ]

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग