blogid : 12172 postid : 750182

बेटी ऐसा जन्म न चाहे

Posted On: 5 Jun, 2014 Others में

! मेरी अभिव्यक्ति !तू अगर चाहे झुकेगा आसमां भी सामने, दुनिया तेरे आगे झुककर सलाम करेगी . जो आज न पहचान सके तेरी काबिलियत कल उनकी पीढियां तक इस्तेकबाल करेंगी .

शालिनी कौशिक एडवोकेट

788 Posts

2130 Comments

Your Pregnancy, Week by Week

हुआ है आज भी देखो

एक और क़त्ल

पर कहीं किसी चेहरे पर

विषाद की छाया नहीं !

…………………………………………………………………………………………………………………………………..

हर तरफ राहत

हो रही महसूस

जैसे किसी बहुत बड़ी

विपदा से मिली मुक्ति !

…………………………………………………………………………………………………………………………………..

कोई कह रहा

चलो सारे जीवन भर का बोझ हटा

कोई कह रहा

हज़ार झंझट दूर हो गए !

…………………………………………………………………………………………………………………………………..

देश का ,समाज का ,परिवार का

कितना हुआ भला

नहीं समझ पा रहे

बस पालन-पोषण,शिक्षा -दहेज़

के खर्च को बचाने में

खुद को सफल मान रहे !

…………………………………………………………………………………………………………………………………..

कन्या-भ्रूण हत्या का

स्वयं वह भ्रूण जो

जन्म न पा सका

मान रहा उपकार सभी का !

………………………………………………………………………………………………………………………………….

अच्छा किया जो मुझे ख़त्म कर दिया

लड़की होने के अभिशाप से

मुझको बचा लिया .

मैं बची लड़की होने के ताने से ,

लड़कों के अभद्र गानों से ,

अपनी इच्छाएं दबाने से ,

दहेज़ में जलाने से ,

…………………………………………………………………………………………………………………………………..

और समाज बचा

औरत की रखवाली से ,

उसको मिलती गाली से ,

बलात्कार बीमारी से ,

लुटती पिटती नारी से !

…………………………………………………………………………………………………………………………………..

देश भी देगा तुम्हें दुआएं ,

जनसँख्या न अब बढ़ पाये ,

बेटी कल को माँ ही बनती ,

बेटी नहीं तो दूर बलायें ,

जनसँख्या जब थम जाएगी ,

तभी तरक्की मिल पायेगी .

………………………………………………………………………………………………………………………………….

देश ,समाज ,परिवार तुम्हारा रहे कृतज्ञ सदा कातिलों ,

बेटी ऐसा जन्म न चाहे जिसमे जीवन ही न मिलो .

………………………………………………….

शालिनी कौशिक

[कौशल ]


Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (2 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग