blogid : 12172 postid : 771174

बेटी को इस धरा पे ,क्यूँ जन्म है दिया ?

Posted On: 5 Aug, 2014 Others में

! मेरी अभिव्यक्ति !तू अगर चाहे झुकेगा आसमां भी सामने, दुनिया तेरे आगे झुककर सलाम करेगी . जो आज न पहचान सके तेरी काबिलियत कल उनकी पीढियां तक इस्तेकबाल करेंगी .

शालिनी कौशिक एडवोकेट

788 Posts

2130 Comments

हे प्रभु तुमने

ये क्या किया

बेटी को इस धरा पे ,क्यूँ जन्म है दिया ?

तू कुछ नहीं कर सकती

कमज़ोर हूँ तेरे ही कारण

कोई बेटी ही

शायद

ये न सुने

अपने पिता से !

फिर जन्म दिया क्यूँ

बेटी को

हे प्रभु तुमने ?

बेटी को बना तुमने

दुःख दे दिए हज़ारों

बेटी ही है इस धरा पर

मारो कभी दुत्कारो

सामर्थ्य दिखाने की

यही राह क्यूँ चुनी

हे प्रभु तुमने ?

जब बैठे थे बनाने

हाथों से अपने बेटी

अपनों से भी लड़ने की

ताकत से मलते मिटटी

क्यूँ धैर्य ,सहनशीलता ,दुःख

ही भरे थे उसमें

हे प्रभु तुमने ?

…………………..

शालिनी कौशिक

[कौशल ]

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (3 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग