blogid : 5807 postid : 714479

मोदिया आतंकवाद "जनसंघी लाठी"

Posted On: 8 Mar, 2014 Others में

बात पते की....भारत के संविधान भाग-3 की धारा 25 से 30 यदि भारत की असुरक्षा का कारण बन जाए तो हमें इसे पुनः परिभाषित करने की जरूरत है।- शम्भु चौधरी

Shambhu Choudhary

63 Posts

72 Comments

भाजपा दिल्ली कार्यालय और लखनऊ कार्यालक के भीतर से दर्जनों राष्ट्रीय लठैत का निकलना खुद में यह ऐतिहासिक है कि मानो भाजपा एक राजनैतिक संस्था नहीं होकर एक सांप्रदायिक संस्था हो। राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आर.एस.एस) जिसने देश में कई सांप्रदायिक संगठनों को अलग-अलग जन्म दिया है। स्पष्ट होता है कि भाजपा भी इसकी एक ईकाई भर है।

कोलकाताः (दिनांक 06 मार्च 2014)  : भाजपा दिल्ली कार्यालय और लखनऊ कार्यालक के भीतर से दर्जनों राष्ट्रीय लठैत का निकलना खुद में यह ऐतिहासिक है कि मानो भाजपा एक राजनैतिक संस्था नहीं होकर एक सांप्रदायिक संस्था हो। राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आर.एस.एस) जिसने देश में कई सांप्रदायिक संगठनों को अलग-अलग जन्म दिया है। स्पष्ट होता है कि भाजपा भी इसकी एक ईकाई भर है।

Please See This Link(6 Photo)

हिन्दू आतंकवाद “जनसंघी लाठी”

-‘‘हिन्दू आतंकवादियों’’  जिसकी झलक हमने 05 मार्च 2014 को लखनऊ भाजपा कार्यालय से निकले ‘‘जनसंघी लाठी’’ से अंदाज लगा लेना चाहिये कि मोदीजी देश में कैसा राज्य लाना चाहतें हैं। जयहिन्द! – शम्भु चौधरी

Tags:

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग