blogid : 12171 postid : 727820

आडवाणी जी का दिल तो दुखता है मगर ...

Posted On: 5 Apr, 2014 Politics में

! अब लिखो बिना डरे !शीशे के हम नहीं कि टूट जायेंगे ; फौलाद भी पूछेगा इतना सख्त कौन है .

DR. SHIKHA KAUSHIK

580 Posts

1343 Comments

दिल तो दुखता है बयान कर नहीं सकते यारों,

कितने बेबस हैं बयां कर नहीं सकते यारों !

……………………………………………………

उम्र गुज़रती गयी ख्वाब पूरा न हुआ ,

कितना अफ़सोस है  बयां कर नहीं सकते यारों !

………………………………………………………

अब तो शागिर्द ही उस्ताद के उस्ताद हुए ,

कितनी खुन्नस है बयां कर नहीं सकते यारों !

…………………………………………………..

अपने  ही काटते गर्दन ये सियासत कैसी ,

मौत की फांस  है बयां कर नहीं सकते यारों !

……………………………………………………………

हमारे मशविरे की अब नहीं कीमत ‘नूतन’,

हमें अहसास है बयां कर नहीं सकते यारों !

शिखा कौशिक ‘नूतन’

    Rate this Article:

    1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
    Loading...
    • Facebook
    • SocialTwist Tell-a-Friend

    अन्य ब्लॉग