blogid : 12171 postid : 755657

'कलम क्या उसकी खाक लिखेगी !!'

Posted On: 17 Jun, 2014 Others में

! अब लिखो बिना डरे !शीशे के हम नहीं कि टूट जायेंगे ; फौलाद भी पूछेगा इतना सख्त कौन है .

DR. SHIKHA KAUSHIK

580 Posts

1343 Comments

नहीं हादसे झेले जिसने ,
आहें नहीं भरी हैं जिसने ,
अगर थाम ले कलम हाथ में ,
कलम क्या उसकी खाक लिखेगी !!
………………………………………..
पलकें न भीगीं हो जिसकी ,
आंसू का न स्वाद चखा हो ,
अगर लगे दर्द-ए-दिल गानें ,
दिल पर कैसे धाक जमेंगी !!
………………………………………………
नहीं निवाले को जो तरसा ,
नहीं लगी जिस पेट में आग ,
बासी रोटी खा लेने को ,
आंतें उसकी क्यों उबलेंगी !!

शिखा कौशिक ‘नूतन ‘

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग