blogid : 12171 postid : 599351

वो पुरुष ही क्या जिसमे पौरुष के न हो दर्शन

Posted On: 12 Sep, 2013 Others में

! अब लिखो बिना डरे !शीशे के हम नहीं कि टूट जायेंगे ; फौलाद भी पूछेगा इतना सख्त कौन है .

DR. SHIKHA KAUSHIK

580 Posts

1343 Comments

Indian Wedding Couple Royalty Free Stock Images

वो पुरुष ही क्या जिसमे पौरुष के न हो दर्शन ,
विवश हो जिसके समक्ष नारी स्वयं कर दे समर्पण !
**********************************************************
नीच दुष्ट राक्षस पिशाच की श्रेणी के नर ,
पौरुषहीन ही हैं करते बलात स्त्री का हरण !
विवश हो जिसके समक्ष नारी स्वयं कर दे समर्पण !
*********************************************************
जिसका बुद्धि और भुजबल आकृष्ट कर ले नारी चित्त ,
उत्सुक सरिता बह चले अर्णव से करने को मिलन !
विवश हो जिसके समक्ष नारी स्वयं कर दे समर्पण !
*************************************************
जिस नर में हो धीरता ,उदारता व् वीरता ,
उसके प्रति नारी उर में पनप जाता है आकर्षण !
विवश हो जिसके समक्ष नारी स्वयं कर दे समर्पण !
******************************************************
पुरुषों में उत्तम कहे जाते हैं श्री राम क्यूँ ?
नारी के सम्मान हेतु काट देते हैं दशानन !
विवश हो जिसके समक्ष नारी स्वयं कर दे समर्पण !
******************************************************
कृष्णा की पुकार पर दौड़कर पधारते ,
पूर्ण-पुरुष कहलाते है इसीलिए राधेकृष्ण ,
विवश हो जिसके समक्ष नारी स्वयं कर दे समर्पण !

शिखा कौशिक ‘नूतन ‘

Tags:

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (4 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग