blogid : 316 postid : 1390538

112 नम्बर डायल करने पर होंगे आपके सभी इमरजेंसी काम, 14 राज्यों में शुरू हुई इस सेवा की जानें खास बातें

Posted On: 18 Feb, 2019 Common Man Issues में

Pratima Jaiswal

जन-जन से जुड़ी दास्तांसमाज की विभिन्न जरुरतों व समस्यायों को उभारता और समाधान तलाशता ब्लॉग

Social Issues Blog

954 Posts

830 Comments

अगर आपको पुलिस का नम्बर डायल करना हो, तो 100 नम्बर डाल करेंगे, वुमेन हेल्पलाइन के लिए 1090 का नम्बर डायल करेंगे लेकिन अस्पताल के लिए कौन-सा नम्बर डायल करेंगे? एक साथ कई नम्बर याद रखना बहुत मुश्किल है। वहीं डिजीटल दौर में याद रखने की पूरी जिम्मेदारी हमने मोबाइल पर डाल दी है। लेकिन अगर कोई आपसे कहे कि आपको एक ही नम्बर से सारी सुविधाएं मिल जाएगी, तो शायद आपको भरोसा न हो।

 

 

इन राज्यों में 19 फरवरी से शुरू होगी सर्विस

112 नंबर डायल करने पर ये सभी सर्विसेस आपको 19 फरवरी से उपलब्ध कराई जाएंगी। इस सिंगल इमरजेंसी नंबर (Emergency Number) की सेवा उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, राजस्थान, मध्य प्रदेश, तमिलनाडु, केरल, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना और केंद्र शासित प्रदेशों में मिलेंगी। फिलहाल ये इमरजेंसी नंबर हिमाचल और नागालैंड में चालू है। गृह मंत्रालय के अनुसार “लोग आपातकालीन सेवाओं के लिए 112 डायल कर सकते हैं या फिर अपने स्मार्टफोन के पावर बटन को 3 बार प्रेस कर सकते हैं। इसके अलावा नॉर्मल मोबाइल में 5 या फिर 9 नंबर को लॉन्ग प्रेस करें, इससे ये इमरजेंसी नंबर एक्टिवेट हो जाएगा।”

 

 

गूगल प्लेस्टोर में एप भी उपलब्ध
नम्बर के अलावा बर आपको ‘112’ नाम से गूगल प्लेस्टोर (Google Play Store) और एप्पल स्टोर (Apple Store) पर फ्री में ऐप भी मौजूद है। इसे स्मार्टफोन से डाउनलोड कर सेवा का लाभ उठाया जा सकता है। इस ऐप में महिलाओं और बच्चों को फटाफट मदद पहुंचाने के लिए “SHOUT” नाम से फीचर मौजूद होगा, जिससे एरिया के आस-पास वाले रजिस्टर्ड स्वयंसेवकों को मदद के लिए तुंरत भेजा जाएगा।
भारत के अलावा यूएस में इस तरह सर्विस ‘911’ पर मिलती है। इस एक नंबर को डायल करने पर सभी इमरजेंसी सुविधाएं तुंरत मुहैया कराई जाती हैं…Next 

 

 

Read More :

क्या है स्मॉग, इन तरीकों से कर सकते हैं इससे बचाव

#MeToo कैंपेन के तहत इन मशहूर लोगों पर लगे यौन शोषण के आरोप, जानें क्या है ये मुहिम

सर्दी-जुकाम के बार-बार बनते हैं शिकार! ये हैं असली वजहें

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग