blogid : 316 postid : 1390527

CBSE ने एग्जाम पैटर्न में किए ये 2 बदलाव, इस बार आसान आएंगे पेपर

Posted On: 13 Feb, 2019 Common Man Issues में

Pratima Jaiswal

जन-जन से जुड़ी दास्तांसमाज की विभिन्न जरुरतों व समस्यायों को उभारता और समाधान तलाशता ब्लॉग

Social Issues Blog

954 Posts

830 Comments

एग्जाम आते ही बच्चों में स्ट्रेस लेवल काफी बढ़ जाता है। कितनी ही अच्छी तैयारी क्यों न हो लेकिन एग्जाम के बारे में सोचते ही कई लोगों को डर लगने लगता है। कई बच्चों को तो इस हद तक घबराहट होने लगती है कि उन्हें लगता है कि वो सामने पेपर देखते ही सब भूल जाएंग़े। ऐसे में एग्जाम को एक बुरा सपना न बनने देने के लिए सीबीएसई ने नया एग्जाम पैर्टन सेट किया है, जिससे कि बच्चों को पेपर आसान लग सके। इन स्टूडेंट फ्रेंडली बदलावों से छात्रों को आसानी होगी। इस साल 15 फरवरी से सीबीएसई की 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं शुरू हो रही हैं।

 

 

ऑब्जेक्टिव टाइप प्रश्नों की संख्या बढ़ी
इस बार ऑब्जेक्टिव टाइप प्रश्नों की संख्या बढ़ा दी गई है। इसके अलावा इस बार प्रश्नों के विकल्प भी बढ़ाए गए हैं। एक अधिकारी ने बताया, ‘हर बार लगभग 10 प्रतिशत प्रश्न ऑब्जेक्टिव टाइप होते हैं। हालांकि, इस साल 25 फीसदी प्रश्न ऑब्जेक्टिव टाइप होंगे। इससे छात्रों का आत्मविश्वास बढ़ेगा और वे अच्छे अंक हासिल कर सकेंगे।’ उन्होंने आगे बताया, ‘अगर कोई छात्र किसी प्रश्न को लेकर कॉन्फिडेंट नहीं है तो उसके पास लगभग 33% प्रश्न विकल्प के तौर पर मौजूद होंगे।’

 

पेपर कई सब सेक्शन में बंटे होंगे
इस बार छात्रों को ज्यादा व्यवस्थित प्रश्नपत्र मिलेगा। हर पेपर में कई सब सेक्शन्स में बंटे होंगे। उदाहरण के लिए, सारे ऑब्जेक्टिव टाइप प्रश्न एक ही सेक्शन में होंगे। इसके बाद अधिक अंकों वाले सवाल एक साथ होंगे। बोर्ड ने किसी भी पेपर को लीक होने से बचाने के लिए भी कुछ कदम उठाए हैं।

 

 

 

एग्जाम के लिए लगाए गए ये नियम भी
सीबीएसई की परीक्षाओं में इस बार 10 बजे के बाद परीक्षा केंद्रों में स्टूडेंट्स को एंट्री नहीं मिलेगी। आधे घंटे पहले परीक्षा केंद्र पहुंचना अनिवार्य होगा। सीबीएसई ने परीक्षाओं के लिए 4 नए बदलाव किए हैं। सभी छात्रों को स्कूल यूनिफॉर्म में ही प्रवेश दिया जाएगा। सुबह साढ़े 10 बजे से परीक्षा शुरू होगी।

 

प्रवेश पत्र पर प्रिंसिपल और अभिभावकों के साइन जरूरी
इस बार प्रवेश पत्र पर स्टूडेंट्स और प्रिंसिपल के साथ ही अभिभावकों के भी हस्ताक्षर जरूरी होंगे। ऐसा नहीं होने पर छात्रों को प्रवेश नहीं दिया जाएगा। परीक्षा के दौरान छात्र अपने साथ केवल कलम, प्रवेश पत्र और पारदर्शी बैग ही लेकर जा सकेंगे। डायबिटीज के रोगियों को स्नैक्स ले जाने की दी गई है। किसी भी हालत में कोई लिखित सामग्री, मोबाइल, पर्स और स्मार्टवॉच ले जाने की अनुमति नहीं होगी…Next

 

 

Read More :

#10YearChallenge में सामने आए कई गंभीर मुद्दे, कई देशों में हो रहा है विरोध

सिगरेट की लत से छुटकारे के लिए ट्राई कर चुके हैं हर ट्रिक, तो एक बार इस स्टडी के नतीजों पर गौर करके देखें

बेदर्द नहीं है मर्द! स्टडी में पुरुषों की भावनाओं से जुड़ी इन बातों का हुआ खुलासा

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग