blogid : 316 postid : 1141382

इन 5 देशों में इन लोगों को है प्यार करने की पूरी आजादी

Posted On: 24 Feb, 2016 Common Man Issues में

जन-जन से जुड़ी दास्तांसमाज की विभिन्न जरुरतों व समस्यायों को उभारता और समाधान तलाशता ब्लॉग

Social Issues Blog

759 Posts

830 Comments

अगर कोई आपसे सीधा-सा सवाल करे कि ‘समाज क्या होता है?’ तो शायद थोड़ी देर सोचकर आपके दिमाग में लोगों के समूह या समुदाय से जुड़ी कोई परिभाषा आएगी. लेकिन जरा सोचिए आपके दिमाग में लोगों से पहले, कायदे-नियम क्यों नहीं आए. इसका सरल-सा जवाब ये है कि लोगों ने कायदे-नियमों को अपनी सुविधाओं और जीने के लिए बनाया है न कि कायदे-नियमों ने इंसान का निर्माण किया है. लेकिन दुर्भाग्य से समाज में कुछ नियम और कायदे ऐसे बना दिए गए हैं जो जर्जर पड़ चुके हैं.


lgbt community story




Read : आठ साल की उम्र में प्यार और एक-दूसरे की बाँहों में मौत!सच्चे प्यार की सुंदर कहानी

इन बंदिशों को कुछ लोग सामाजिक मर्यादाओं का नाम देते हैं. बहरहाल, इसके बारे में सभी का अपना अलग तर्क हो सकता है. लेकिन दूसरी तरफ कुछ ऐसे देश भी हैं जहां अपनी मर्जी से जीने की काफी हद तक आजादी दी गई है. जैसे बात करें एलजीबीटी सोसाइटी की तो दुनिया भर के कई देशों में इसपर पाबंदी लगी हुई है लेकिन दूसरी तरफ कई देश ऐसे भी हैं. जिनमें एलजीबीटी सोसाइटी के लोगों को खुलकर जीने की आजादी दी गई है. आइए हम आपको बताते हैं दुनिया के ऐसे 5 देश जहां एलजीबीटी सोसाइटी के लोग जिदांदिली से जी सकते हैं.


तुर्की : एक इस्लामिक राष्ट्र के रूप में पहचाने जाने वाले देश तुर्की में 1858 में हुए ऑटमन खिलाफत आंदोलन ने यहां समलैंगिकों के बीच सेक्स संबंधों को मान्यता दिलाने में अहम रोल अदा किया। आज भी इस देश में यह अधिकार कायम है.


जॉर्डन: यहां 1951 में होमोसेक्शुअल रिलेशंस को कानूनी मान्यता मिल गई थी औऱ तब से यहां का संविधान होमोसेक्शुअल्स के अधिकारों की रक्षा करता आया है.

lgbt2

Read : उनका प्यार झूठा नहीं सच्चा है यह साबित करने के लिए जान दे दी

माली: यहां के नागरिक एलजीबीटी समुदाय से भेदभाव करते हैं, लेकिन यहां का कानून होमोसेक्शुल्स के सेक्स रिलेशन को कानूनी मान्यता देता है. हालांकि, यहां के संविधान के अनुसार पब्लिक प्लेस पर सेक्स की पाबंदी है और यह नियम सब पर लागू है, चाहे वह होमोसेक्शुअल हों या हेट्रो.

बहरीन: इस खाड़ी देश में 1976 से ही समलैंगिकों के सम्बन्धों को कानूनी मान्यता मिल गई थी, लेकिन यहां के लड़के लड़कियों की तरह कपड़े नहीं पहन सकते.

अलबेनिया: दक्षिण-पूर्व यूरोप की यह इस्लामिक कंट्री समलैंगिकों की रक्षा को लेकर काफी गंभीर है और यहां इस समुदाय के लोगों को भेदभाव से बचाने के लिए कई अहम कानून बनाए गए हैं…Next

Read more

प्यार की अनोखी कहानी! गर्लफ्रेंड के मरने के बाद उसकी लाश से की शादी

इस लड़की के प्यार में कौवे देते हैं बेशकीमती तोहफे

अगर आप सच्चे प्यार में हैं तो इस वीडियो को देखकर, आपके चेहरे पर आ जाएगी मुस्कान

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग