blogid : 316 postid : 1056313

बच्चों के साथ सड़क पर बिलखती इस मां का दर्द जिसने सुना भावुक हो गया

Posted On: 24 Aug, 2015 Common Man Issues में

जन-जन से जुड़ी दास्तांसमाज की विभिन्न जरुरतों व समस्यायों को उभारता और समाधान तलाशता ब्लॉग

Social Issues Blog

757 Posts

830 Comments

मैं अपने तीन मासूम बच्चों के साथ कहाँ जाऊं? कैसे इनका पेट भरूं? एक माँ की दर्द भरी व्यथा सुनकर फिजा पूरी तरह गमगीन हो उठी, राह चल रहे राहगीर कुछ पल के लिए भावुक हो उठे. सड़क किनारे बैठी एक माँ अपने तीन बच्चों के साथ आखों में बेहिसाब आंसू लिए अजनबियों से अपना दर्द  बता रही थी. बेबस महिला के पास अपने तीनों बच्चों को पेट भरने के लिए भी पैसे नहीं थे. लोगों के हुजूम से कई-कई तरह की बातें उठने लगी. मौके पर पहुंची पुलिस ने महिला को अपने साथ थाने ले गई.



img 1



यह हृदय विदारक घटना राजकोट (गुजरात) शहर के जिला पंचायत चौक की है. महिला ने अपना नाम दिव्याबेन परमार बताया है. इन्होंने अपने पति रजनीश पर आरोप लगाया है कि वह अपनी पत्नी और तीन बच्चों को छोड़कर किसी अन्य महिला के साथ रह रहा है. रजनीश पिछले तीन महीनों से घर नहीं आया है. जब घर में कुछ भी खाने-पीने को नहीं बचा तो दिव्याबेन बेबसी के आलम में अपने तीनों बच्चों के साथ घर से बाहर सड़क पर आ गई.


Read: कैंसर का यह कैसा इलाज ढूंढ़ा इस गरीब व्यक्ति ने



दिव्याबेन परमार और रजनीश ने प्रेम विवाह किया था. रजनीश किसी प्राइवेट कंपनी में काम करके अपने परिवार को ठीक-ठाक से चला रहा था. सालभर पहले रजनीश,  नालंदा स्कूल के पास रहने वाली एक महिला से प्रेम करने लगा. इसके बाद से वह महीनों घर से बाहर रहता. कभी-कभार वह घर आकर पैसा देता था, लेकिन पिछले तीन महीनों से वह अपने घर नहीं आया है. पुलिस ने रजनीश के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है.


img 2



दिव्याबेन किसी तरह अपना पेट काटकर तीनों बच्चे, खुशी (7 वर्ष), राजवी (डेढ़ वर्ष) और बेटे राज (3 महीने) का पेट भरती है.  पैसों की किल्लत के कारण पिछले तीन महीनों से बिजली का बिल नहीं भरा इसलिए बिजली विभाग ने घर की लाइट काट दी है. पिछले तीन महीनों से दिव्याबेन अपने बच्चों के साथ अंधेरे में दिन गुजार रहीं हैं.



Read: गरीब बच्चों की किताबों के लिए भीख मांगता है ये ग्रेजुएट भिखारी



दर्द का सिलसिला यही खत्म नहीं हुआ क्योंकि उनका घर भी गिरवी रखा हुआ है. रजनीश, लगभग डेढ़ साल पहले घर के कागज गिरवी रख बैंक से 2 लाख रुपए का लोन लिया था. इस लोन की किश्त पिछले कई महीनों से जमा नही हुई है, जिसे लेकर मकान सील करने का नोटिस भी आ चुका है.Next…



Read more:

भूखे शेरों से ऐसे निपटते हैं पिंजड़ों में बंद लोग

महिला के कोख की कीमत क्या हो सकती है

सरोगेट मदर्स : किराए की कोख का पनपता धंधा

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग