blogid : 316 postid : 1393125

आफतों से जूझ रहा देश अब एक और आफत के निशाने पर, मुश्किल में फंसी हजारों जिंदगियां

Posted On: 3 Jun, 2020 Common Man Issues में

Rizwan Noor Khan

जन-जन से जुड़ी दास्तांसमाज की विभिन्न जरुरतों व समस्यायों को उभारता और समाधान तलाशता ब्लॉग

Social Issues Blog

1219 Posts

830 Comments

 

भारत पर पिछले कुछ दिनों से प्राकृतिक आपदाओं ने हमला बोला हुआ है। अंतरराष्ट्रीय आपदा घोषित कोरोना महामारी से जूझ रहा भारत करीब 18 दिनों में 3 राष्ट्रीय आपदाओं से गुजर चुका है। कोरोना महामारी, अंफन साइक्लोन और टिड्डी दल के हमले के बाद अब निसर्ग तूफान तबाही मचाने के लिए तैयार है। विशेषज्ञों के अनुसार भारत के लोग इस आपदा से भी निपट लेंगे। निसर्ग साइक्लोन से भारी नुकसान होने का खतरा बताया गया है।

 

 

 

 

कोरोना महामारी
मार्च से भारत में कोरोना वायरस ने अपने पैर जमाए हुए हैं। पिछले करीब 5​ दिनों से रोजाना 8 हजार से ज्यादा लोग इस वायरस की चपेट में आ रहे हैं। अब तक देश में इस महामारी से पीड़ितों की संख्या 207615 लाख के पार पहुंच चुकी है। जबकि 5815 हजार लोग मर चुके हैं। पूरी दुनिया में भारत 7वां सबसे ज्यादा कोरोना प्रभावित देश है। अमेरिका और रूस जैसे ताकतवर देशों की तुलना में भारत ने महामारी पर काफी रोक लगाई हुई है।

 

 

 

 

अंफन साइक्लोन
बंगाल की खाड़ी से 16 मई को उठा अंफन तूफान ने बांग्लादेश और भारत में भारी तबाही मचाई। बंगाल की खाड़ी में आने वाला यह दूसरा सबसे खतरनाक तूफान था। इसे सुपर साइक्लोन नाम दिया गया था। इस साइक्लोन की वजह से बांग्लादेश और भारत में 83 लोगों की मौत हो गई। जबकि, पश्चिम बंगाल और उड़ीसा में कई हजार मकान तहस नहस हो गए। बता दें कि इससे पहले 90 के दशक में आए अंफन साइक्लोन ने 5 लाख लोगों की जान ली थी।

 

 

 

 

टिड्डी दल का हमला
पिछले एक सप्ताह से भारत में करोड़ों की संख्या में आए टिड्डी दल ने खेतों और वनस्पति पर हमला बोला हुआ है। मार्च में सबसे पहले ईस्ट अफ्रीका के करीब 13 देशों की फसल तबाह करने के बाद मिडिल ईस्ट के देशों से होते हुए पाकिस्तान के बाद भारत में टिड्डी दल ने दस्तक दी। मध्य प्रदेश, राजस्थान, उत्तर प्रदेश और दिल्ली के सीमावर्ती इलाकों में टिड्डी दल के हमले से फसलों और फलों की खेती को भारी नुकसान हुआ है। अभी भी यह टिड्डी दल उड़ीसा और असम की ओर बढ़ रहा है।

 

 

 

 

निसर्ग तूफान का खतरा
अरब सागर में उठे चक्रवात निसर्ग के कारण महाराष्ट्र समेत कई राज्यों में भारी नुकसान का अंदेश है। मौसम विभाग के अनुसार 3 जून को शाम तक यह चक्रवात मुंबई की जमीन से टकराएगा। ऐसे में भारी नुकसान की आशंका पर तटवर्ती इलाकों को खाली करा लिया गया है। वहीं, पणजी समेत कई शहरों में तेज हवा के साथ बारिश भी हो रही है। महाराष्ट्र सरकार और एनडीआरएफ की कई टीमें राहत कार्य के लिए तैनात हैं। पिछले कुछ दिनों में भारत में आने वाली यह चौथी प्राकृतिक आपदा है।..NEXT

 

 

 

Read More:

भारत में कोरोना मरीजों को ठीक करने के लिए इस दवा को मिली मंजूरी

भारत की मदद से 150 देशों के हालात सुधरे, कोरोना महामारी का बने हैं निशाना

कोरोना पीड़ित देशों में ब्राजील दूसरे नंबर पर, जानिए भारत और पाकिस्तान किस नंबर पर

एक कब्र में दफनाए जा रहे कई शव, इस देश के लिए काल बना कोरोना

दुनिया के 12 देशों की सीमा लांघ नहीं पाया कोरोना, अब तक नहीं मिला एक भी मरीज

 

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 3.00 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग