blogid : 316 postid : 1391997

भारत, चीन, ईरान और जापान ने किया ये काम, जानिए बाकी देश Coronavirus को हराने के लिए क्‍या कर रहे

Posted On: 4 Mar, 2020 Common Man Issues में

Rizwan Noor Khan

जन-जन से जुड़ी दास्तांसमाज की विभिन्न जरुरतों व समस्यायों को उभारता और समाधान तलाशता ब्लॉग

Social Issues Blog

1077 Posts

830 Comments

Coronavirus : कोरोना वायरस के खतरे से बचने के लिए अब तक कोई पक्‍की दवा या इलाज नहीं खोजे जाने के कारण दुनियाभर के देश एहतियातन सभी जरूरी फैसले ले रहे हैं। इनमें सबसे महत्‍वपूर्ण फैसला है लोगों को वायरस से बचने के प्रति जागरूक बनाए रखना। जागरूकता और स्‍वच्‍छता को इस वायरस से बचने का सबसे बड़ा हथियार माना जा रहा है। इसके साथ ही लोगों को पैनिक न होने देना भी तमाम देशों के लिए चुनौती भरा टास्‍क है। आइए जानते हैं कोरोना वायरस से बचाव के लिए दुनिया के तमाम देश क्‍या कर रहे हैं।

 

 

 

 

चीन की जद्दोजहद
चीन से दुनियाभर में फैला कोरोना वायरस अब तक 72 देशों के लोगों को अपनी चपेट में ले चुका है। पूरी दुनिया के करीब 90 हजार लोग इस वायरस की चपेट में हैं जिसमें से 80 हजार के करीब संक्रमित लोग केवल चीन में ही हैं। चीन के वुहान की सीफूड मार्केट से निकले इस वायरस ने चीन के ज्‍यादातर इलाकों को अपनी गिरफ्त में ले रखा है। चीन ने इस वायरस से अपने लोगों को बचाने के लिए संक्रमित इलाकों को सील कर दिया है। किसी के भी बाहर निकलने और लोगों के संपर्क में आने पर प्रतिबंध लगा है।

 

 

 

 

सबसे तेज रिकवरी का दावा
चीन में जितनी तेजी से वायरस फैला है चीन ने उतनी ही तेजी से इसे कंट्रोल करने की पूरी कोशिश की है। शिन्‍हुआ के अनुसार तेजी से एक्‍शन लेने की वजह से चीन ने संक्रमित 38 हजार से ज्‍यादा लोगों को रिकवर कर लिया है और उनकी अस्‍पताल से छुट्टी की जा चुकी है। वायरस से संक्रमित राज्‍य हुबेई और वुहान को बाकी राज्‍यों से अलग करके रखा गया है। यहां व्‍यापक स्‍तर पर सैनीटाइजर, मास्‍क समेत स्‍वच्‍छता के पूरे प्रबंध किए गए हैं। इलाज के लिए 8 दिनों में अस्‍पताल और 6 दिनों में मास्‍क फैक्‍ट्री बनाकर चीन ने सबसे तेज काम किया है।

 

 

 

 

ईरान, सउदी अरब और कतर
मिडिल ईस्‍ट के कई देश कोरोना वायरस की चपेट में हैं, लेकिन सबसे ज्‍यादा खतरा ईरान में हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार चीन के बाद कोरोना वायरस ईरान में सबसे तेजी से फैला है। यहां कुछ ही दिनों में वायरस ने 2300 लोगों को अपनी चपेट में ले लिया है। इस वायरस के कारण अब तक 77 लोगों की जान जा चुकी है। ईरान ने इस वायरस से बचाव के लिए संक्रमित देशों की अंतरराष्‍ट्रीय उड़ानों को बंद कर दिया है। जेल में बंद 54 हजार खूंखार कैदियों को रिहा करने का काम किया है। ईरान सरकार ने सार्वजनिक स्‍थानों पर बिना हाथ पैर और मुंह ढंके निकलने पर पाबंदी लगा दी है, साथ ही स्‍कूलों और अन्‍य प्रतिष्‍ठानों को बंद कर दिया गया है। सउदी अरब, कतर, बहरीन समेत कई अन्‍य देशों ने भी एहतियाती कदम उठाए हैं।

 

 

 

 

हांगकांग, जापान और दक्षिण कोरिया
हांगकांग और दक्षिण कोरिया में कोरोना वायरस ने तेजी से लोगों को अपना शिकार बनाया है। यहां की सरकारों ने सभी स्‍कूलों को बंद कर दिया है और कुछ परीक्षाओं को छोड़कर बाकी स्‍थगित कर दी गई हैं। जापान के मशहूर यूनीवर्सल स्‍टूडियोज के डिज्‍नीलैंड को अनिश्‍चितकाल के लिए बंद कर दिया गया है। वायरस से बचाव के उपकरणों मास्‍क, सैनीटाइजर का प्रोडक्‍शन बढ़ा दिया गया है।

 

 

 

 

भारत और पाकिस्‍तान
भारत में अब तक कुल 28 लोगों में कोरोना वायरस की पुष्टि की गई है। इनमें दिल्‍ली से एक, आगरा के 6, तेलंगाना से एक, केरल से 3 के साथ ही इटली के 16 पर्यटक ओर एक ड्राइवर कोरोना की चपेट में पाए गए हैं। केरल के 3 मरीजों को उपचार के बाद ठीक किया जा चुका है। भारत ने दिल्‍ली में दो अस्‍पतालों को कोरोना से निपटने के लिए नोडल सेंटर बनाया है और देशभर में मेडिकल यूनिट्स को अलर्ट पर रखा गया है। सार्वजनिक स्‍थानों पर दवा का छिड़काव होने के साथ मेट्रो में भी सैनीटाइजर की व्‍यवस्‍था की जा रही है। वहीं, पाकिस्‍तान में भी 5 से ज्यादा लोगों के संक्रमित होने का दावा किया गया है। पाकिस्‍तान सरकार ने बचाव के लिए स्‍वच्‍छता पर जोर देने के अलावा मेडिकल स्‍टाफ को अलर्ट किया है।

 

 

 

 

WHO दे रहा मदद
कोरोना से बचाव के लिए वैश्विक स्‍तर पर तेजी से काम कर रहे विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन WHO ने सभी देशों में अपनी मेडिकल टीमें मदद के लिए भेज दी हैं। WHO की रिपोर्ट के अनुसार दुनिया के 47 देशों को सैनीटाइजर, मास्‍क समेत अन्‍य जरूरी उपकरणों की सप्‍लाइ लगातार की जा रही है। इनमें करीब 9 करोड़ मास्‍क, 7 करोड़ से ज्‍यादा हैंड ग्‍लव्‍स और डेढ़ करोड़ से अधिक गॉगल्‍स हर महीने भेजे जा रहे हैं। इसके अलावा लगातार वायरस से लड़ने और इसे रोकने के लिए वैज्ञानिकों की टीम रिसर्च अभियान में जुटी हुई है।…NEXT

 

 

 

Read More:

कोरोना वायरस से बचने के ये 3 सबसे आसान तरीके, WHO से लेकर भारत सरकार भी कर रही प्रमोट

कोरोना वायरस के लिए ऑनलाइन कोर्स शुरू, ईरान बना वायरस का नया ठिकाना

Coronavirus: चीन ने अब 6 दिन में बना दी मास्‍क फैक्‍ट्री, पहले 8 दिन में बनाया था अस्‍पताल

कोरोना वायरस : हेल्‍पलाइन नंबर पर तकलीफ बताइये तुरंत आएगी मेडिकल टीम

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग