blogid : 316 postid : 300

नारकीय और भयावह - मजा या सजा

Posted On: 2 Sep, 2010 Common Man Issues में

जन-जन से जुड़ी दास्तांसमाज की विभिन्न जरुरतों व समस्यायों को उभारता और समाधान तलाशता ब्लॉग

Social Issues Blog

950 Posts

830 Comments

मसाज पार्लर की आड़ में देह व्यापार



मसाज पार्लर की राह कहॉ तक ले जाएगी इसके बारे में अनुमान लगाना कठिन है. कहीं ये रास्ता उस नर्क का दर्शन कराती है जिसकी कल्पना मात्र से ही रोंगटे खड़े हो जाते हैं और कहीं इस रास्ते पे चलके कई लोग अपना सबकुछ खो चुके होते हैं. सांस्कृतिक पतन की ओर बढ़ते देश को ऐसी कुवृत्तियां बहुत तेजी से चोट पहुंचा रही हैं. केवल पैसे और क्षणिक सुख के लिए पूरी पीढ़ी की बर्बादी कहॉ तक उचित है.

मोहन बेरोजगारी की वजह से उत्तर प्रदेश छोड़ कर दिल्ली आया रोजगार की तलाश में लेकिन यहां भी उसे यही स्थिति मिली. फिर एक दिन उसने एक दैनिक अखबार के विज्ञापन को देख कर मसाज पार्लर से संपर्क किया. मोहन ने पैसे जमा कराए और फोन पर ही उसे मसाज पार्लर वाले ने एक होटल का पता देकर रात को आठ बजे पहुंचने को कहा. लेकिन होटल पहुंचकर अधेड़ महिला का पहनावा और व्यवहार देखकर उसके पांव तले जमीन खिसक गई. मसाज के नाम पर वहां उपस्थित महिला ने उसके साथ शारीरिक संबंध बनाने की कोशिश की.  मना करने पर उसने कहा कि पार्लर से इसी काम के तीन हजार रुपए में बात हुई है. ऐसा न किया तो शिकायत करूंगी. बेचारा मोहन ठगा सा होटल से बाहर निकल गया. लोग आज पैसे कमाने के लिए किसी भी हद तक गुजर सकते हैं और ऐसे में वेश्यावृत्ति के दलाल भी अपने धंधे के लिए कुछ भी करने को तैयार हैं. जिस मसाज को आप अपने शरीर के लिए बडा फायदेमंद समझते हैं और जिस पार्लर में आप अगली बार मसाज के लिए जाने की सोच रहे हों, उसके बारे में पहले एक बार जरा तहकिकात कर लीजिएगा, कहीं ऐसा न हो आपको मसाज के बहाने कुछ और मिल जाए.

मसाज पार्लर की आड़ में देह व्यापार
मसाज पार्लर की आड़ में देह व्यापार
आज सेक्स का बाजार इतना फैल चुका है कि वह मात्र एक रेड लाइट एरिया में सिमटने की जगह पूरे समाज में अपनी पकड़ बना रहा है. यह धंधा अब बड़ी कोठियों, फार्म हाउस और बड़े होटलों तक पहुंच गया है.  अब मसाज सेंटर या ब्यूटी पार्लर का भी इस्तेमाल इस धंधे में कम होता है ताकि इसमें शामिल लोगों की सामाजिक प्रतिष्ठा बरकरार रहे.  रेड लाइट एरिया तक जाने में बदनामी का डर रहता है लेकिन आज के हाई प्रोफाइल सेक्स बाजार में कोई बदनामी नहीं, क्योंकि ग्राहक को मनचाही जगह पर मनचाहा माल उपलब्ध हो जाता है और किसी को कानों कान खबर तक नहीं होती.

koh-samui-thai-massage24सेक्स तक तो ठीक था लेकिन अब मसाज पार्लर की आड़ में कई गोरखधंधे हो रहे है. अखबारों में हाई प्रोफाइल लेडीज का मसाज करें जैसे विज्ञापन पढ़ कर कई बेरोजगर युवक इसके जाल में फंस जाते हैं. यह विज्ञापन कई बार झूठे भी होते हैं जिनमें लोगों को एक अकाउंट में पैसे डालने को कहा जाता है और जैसे ही लोग अकाउंट में पैसे डालते हैं नबंर देने वाला अपना फोन ही बंद कर देता है. इस तरह उस युवक के पैसे तो जाते ही हैं और वह शर्म की वजह से पुलिस में शिकायत भी नहीं करता.

हालांकि कुछ मसाज के विज्ञापन सच्चे भी होते हैं मतलब जो लड़कियों के दलाल होते हैं. पहले यह ग्राहक को एडवांस जमा कराने के लिए कहते हैं फिर उन्हें ग्राहक की मनपसंद जगह पर लडकियां भिजवा देते हैं. यह देह-व्यापार का नया रुप है, जहां आपको मसाज की जगह सेक्स मिलता है. इस धंधे के इस रुप में न तो पुलिस का डर रहता है और न ही अन्य खतरे.

hmrc_is_now_well_versed_in_the_skills_ofआज का बेरोजगार युवा पैसा कमाने के नए और आसान रास्ते ढ़ूंढ़ता रहता है और ऐसे में जब उसे कोई इस तरह की जॉब मिलती है जहां उसे मजे के साथ पैसा भी मिले तो वह इस काम को ही अपना प्रोफेशन बनाने की तैयारी करने लगता है. इस तरह एक तरह की पुरुष वेश्यावृत्ति भी होती है यानी मसाज पार्लर की आड़ में जिगोलो सेवा.

139294000_22eafb6fdfमोबाइल ही है संपर्क साधन

इन फुल बॉडी मसाज पार्लरों का कोई स्थाई पता नहीं होता. विज्ञापन में भी मात्र नंबर ही दिए होते हैं. इनसे संपर्क करने का जरिया मात्र मोबाइल नंबर ही होता है. अगर आपको काम मिल भी जाता है तब भी आपसे इनके सरगना सामने नही मिलेंगे.

इस तरह के मामलों में एक बात और सामने आई है कि ऐसे रैकेटों के पास एक दो नहीं दर्जनों नंबर होते हैं, लेकिन बैंक का खाता एक ही है.  ये एक नंबर को एक दिन ही काम में लाते हैं, जितने लोग फंसते हैं, उनसे ठगी कर ली जाती है और भविष्य के लिए नंबर बंद कर दिया जाता है. ठगी के शिकार जब भी उन्हें काल करेंगे तो नंबर स्विच आफ आएगा. बैंक एकाउंट भी बाहर का होता है ऐसी स्थिति में पुलिस उन्हें पकड़ भी नहीं पाती.

गलत है यह रास्ता

ऐसे मसाज पार्लर में काम करने वाले लोग और कुछ नहीं बल्कि वासना की पूर्ति के लिए एक साधन मात्र होते हैं. पुरुष और स्त्री दोनों ही वेश्या होते हैं. ऐसे काम करने में आपको पैसे तो मिलेंगे लेकिन इज्जत और आत्मसम्मान कभी नहीं मिलेगा.

इसके साथ ही ऐसे पार्लर जिस तरह के ग्राहक देते हैं उनके साथ शारीरिक संबंध बनाना स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकता है. एड्स और अन्य बीमारियों का खतरा हमेशा बना रहता है और पकड़े जाने पर जेल अलग से.

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (15 votes, average: 4.40 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग