blogid : 316 postid : 813196

चमत्कार! जिस नवजात को मरा जान दफन कर दिया गया वह जिंदा लौटी...लेकिन कैसे?

Posted On: 6 Dec, 2014 Common Man Issues में

जन-जन से जुड़ी दास्तांसमाज की विभिन्न जरुरतों व समस्यायों को उभारता और समाधान तलाशता ब्लॉग

Social Issues Blog

1001 Posts

830 Comments

उस नवजात ने धरती पर अभी चंद सांसे ही ली होंगी और उसे मरा जानकर जमीन में दफन कर दिया गया पर उसकी कहानी केवल इतनी सी नहीं थी. इस नवजात बच्ची के साथ आगे जो हुआ वह किसी चमत्कार से कम नहीं था. उन गरीब मां-बाप को शायद ही पता था कि जिस नवजात को मरा जानकर जमीन में दफनाया गया है वह उनके लिए खुशियों की सौगात लाने वाली है.


mir 1 p


लु जियाउन और उनके पति ये योंग उत्तरी चीन के लियोनिंग प्रांत के निवासी हैं. खेतों में काम करने के दौरान गर्भवती लु को अचानक प्रसव पीड़ा उठा. लु को अंदाजा था कि वह केवल 4 महीने की गर्भवती हैं इसलिए उन्हें आशंका हुआ कि खेत में काम करने के कारण उनका गर्भपात हो गया है.


Read: क्या ‘अल्लाह’ ने उसे अपना पैगंबर बनाकर धरती पर भेजा है… पढ़िए एक ऐसे जीव के बारे में जिसे देखते ही अल्लाह का आभास होता है


लु ने तुरंत अपने पति को बुलाया जिसने लु को खून से लथपथ पाया. लु के पति ने एम्बुलेंस स्टाफ को बताया कि बच्चा मृत पैदा हुआ है इसलिए उसे देखने में समय बर्बाद करने की जरूरत नहीं है. लु को अस्पताल ले जाया गया और इस दौरान उसकी मां ने नवजात बच्ची को पेड़ के पास दफना दिया.


अस्पताल में एक डॉक्टर ने नवजात शिशु के बारे में सवाल किया और जोर दिया कि नवजात शिशु की पहले अच्छी तरह जांच की जानी चाहिए क्योंकि संभव है कि बच्ची जिंदा पैदा हुई हो. लु के पति ये योंग तुरंत अपने फार्म की ओर भागे पर यह जानकर स्तब्ध रह गए कि उनकी सास बच्ची को दफन कर चुकी हैं.

ये योंग ने जल्दी-जल्दी बच्ची को खोद कर बाहर निकाला और यह देख उसकी हैरीनी की सीमा न रही कि बच्ची की सांसे चल रही हैं जबकि दो घंटे से अधिक समय तक वह जमीन में गड़ी हुई थी. वह तुरंत बच्ची को लेकर अस्पताल पहुंचे जहां डॉक्टरों ने बताया की लु चार महीने की नहीं बल्कि 6 महीने की गर्भवती थीं. तीन दिन तक उस बच्ची का अस्पताल में ईलाज होता रहा पर इस नवजात के छोटे से जीवन में अभी और मोड़ आने बाकी थे.


Read: शादी करने के बाद पता चला कि ‘हम तो सगे भाई-बहन हैं’…आप इसे फनी कहेंगे या इमोशनल पर ये है एक परिवार की ट्रैजेडी


जब इस गरीब परिवार के पास इस नवजात के ईलाज के पैसे न बचे तो मजबूरन उन्हें इसे अस्पताल से डिस्चार्ज करवाना पड़ा. लु ने बताया, “मेरी सास को एक गंभीर बिमारी है और मेरी पहले से ही एक 7 साल की बच्ची है. मेरी पत्नी के पास कोई नौकरी नहीं है. परिवार में मैं ही एक कमाने वाला सदस्य हूँ.” हालांकि जब चीनी मीडिया ने इस चमत्कारी बच्ची की खबर दिखाना शुरू किया तो लोग इस गरीब परिवार को बच्ची के ईलाज के लिए पैसा दान देने लगे.

नवजात बच्ची जिसका अभी तक नाम रखा जाना बाकि है फिर से अस्पताल लौट गई है. उसे इंकुबेटर में रखा गया है. हमें उम्मीद है कि यह अनाम बच्ची जल्द ही स्वस्थ होकर अस्पताल से बाहर आएगी और अपनी किलकारियों से संसार में खुशिया बिखेरेगी. Next…

Read more:

11 साल की उम्र में यह करना बहुत मुश्किल था… पढ़िए जहर और हौसले के बीच जंग लड़ती एक जांबाज मासूम की कहानी

बच्चे ने जन्म लेने से पहले ही स्कूल में मास्टर बनने की योग्यता हासिल कर ली, अजीब सी यह खबर पढ़कर आप भी हैरान रह जाएंगे

प्रेमी के साथ मिलकर खुद के ही बच्चे को बनाया अपनी हवस का शिकार, क्या ऐसी होती है मां? पढ़िए इंसानियत को शर्मसार करती एक घटना


Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग