blogid : 316 postid : 1392013

जानिए- विश्‍व के 13 फीसदी लोग क्‍यों मौत के मुहाने पर हैं और 34 करोड़ बच्‍चों की जिंदगी कैसे खतरे में है

Posted On: 4 Mar, 2020 Others में

Rizwan Noor Khan

जन-जन से जुड़ी दास्तांसमाज की विभिन्न जरुरतों व समस्यायों को उभारता और समाधान तलाशता ब्लॉग

Social Issues Blog

1221 Posts

830 Comments

दुनियाभर के 13 फीसदी लोग अपने शरीर के वजन के कारण जानलेवा बीमारियों की चपेट में आने की ओर बढ़ रहे हैं। जबकि, 34 करोड़ बच्‍चे और किशोर स्‍वास्‍थ के मामले में एक गंभीर समस्‍या से जूझ रहे हैं। इस समस्‍या के चलते चिकित्‍सक उनकी जिंदगी को खतरा बता रहे हैं। वैश्विक रिपोर्ट में आए आंकड़े काफी डरावने हैं। रिपोर्ट में मोटापे और उससे उत्‍पन्‍न हो रहीं बीमारियों को लेकर सतर्क किया गया है।

 

 

 

 

1975 और 2016 के बीच व्‍यापक प्रसार
वर्ल्‍ड ओबेसिटी डे पर WHO ने रिपोर्ट जारी करते हुए दुनिया भर में मोटापे के खतरे के बारे में लोगों को आगाह किया है। रिपोर्ट में बताया गया है कि 1975 और 2016 के बीच दुनिया भर में मोटापे की व्यापकता तीन गुना बढ़ गई है। आंकड़ों के मुताबिक दुनियाभर के करीब 34 करोड़ बच्‍चे और किशोर मोटापे का शिकार हैं। इसकी वजह से वह कई तरह की शारीरिक समस्‍याओं से घिर चुके हैं।

 

 

 

 

बच्‍चों के मंदबुद्धि होने की आशंका
रिपोर्ट में दावा किया गया है कि बच्‍चों मोटापे का शिकार हो रहे हैं जिस कारण उनकी सोचने समझने की क्षमता पर असर पड़ रहा है। आंकड़ों के तुलनात्‍मक अध्‍ययन के अनुसार बच्‍चों के जीवित रहने की उम्र में भी कमी की आशंका जताई जा रही है। 2018 की रिपोर्ट के अनुसार 5 साल से कम उम्र के 4 करोड़ बच्‍चे अपने वजन से अधिक पाए गए। जबकि, 2016 के आंकड़ों के अनुसार 5 से 19 साल की उम्र के 34 करोड़ किशोर मोटापे का शिकार पाए गए हैं।

 

 

 

 

190 करोड़ लोग अनफिट
WHO की रिपोर्ट में 2016 के आंकड़े बताते हैं कि दुनिया के 13 फीसदी वयस्‍क पुरुष मोटापे का शिकार हैं। रिपोर्ट में खुलासा किया गया कि 18 साल से ऊपर की उम्र के 190 करोड़ लोग अपने वजन में फिट नहीं बैठते हैं। इनमें से 65 करोड़ लोग गंभीर रूप से मोटापे का शिकार हो चुके हैं। मोटापे की वजह से इन सबकी उम्र सीमा में विभिन्‍न कारणों के चलते कमी की आशंका जताई गई है। विशेषज्ञों के अनुसार यह सभी किसी न किसी बीमारी का भी शिकार या तो हो चुके हैं या फिर होने वाले हैं।

 

 

 

 

कैंसर, हार्ट अटैक जैसी बीमारियों का खतरा
WHO के अनुसार मोटापे का शिकार यह सभी लोग गंभीर बीमारियों के चंगुल में फंसने को तैयार हैं। नियमित व्‍यायाम और फिटनेस पर ध्‍यान नहीं देने की वजह से ज्‍यादातर लोग डायबिटीज, कैंसर और कार्डिएक संबंधी बीमारियों की चपेट में आ सकते हैं। ऐसे लोगों को हार्ट अटैक, स्‍ट्रोक, अर्थराइटिस जैसी बीमारी होने का खतरा अधिक है। इन बीमारियों से बचने के लिए वेट मेंटेन रखने के लिए व्‍यायाम, फल, हरी सब्‍जी और दाल के सेवन को बढ़ाने की सलाह दी गई है। जबकि, शुगर और नमक को कम करने को कहा गया है।…NEXT

 

 

 

Read More:

टिड्डियों ने देखते देखते चट कर दी 3 देशों की फसल, 1 करोड़ किसानों की तबाही के बाद भारत पर नजर

Coronavirus: चीन ने अब 6 दिन में बना दी मास्‍क फैक्‍ट्री, पहले 8 दिन में बनाया था अस्‍पताल

3 हजार साल पुरानी दवा से ठीक हो रहा कोरोना वायरस, चीन का खुलासा

कोरोना वायरस : हेल्‍पलाइन नंबर पर तकलीफ बताइये तुरंत आएगी मेडिकल टीम

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग