blogid : 316 postid : 1387675

मोबाइल वॉलेट को आधार से लिंक करने पर मिली राहत, जानें अब क्या आए निर्देश

Posted On: 1 Mar, 2018 Common Man Issues में

जन-जन से जुड़ी दास्तांसमाज की विभिन्न जरुरतों व समस्यायों को उभारता और समाधान तलाशता ब्लॉग

Social Issues Blog

743 Posts

830 Comments

सरकार और RBI की तरफ से जारी गाइड लाइन में ये साफ कहा गया था कि, प्रीपेड ई-वॉलेट्स के लिए केवाईसी पूरी करने की डेडलाइन 28 फरवरी है। ऐसे में अब या तारीख निकल चुकी है और कई लोग शायद अपने प्रीपेड ई-वॉलेट्स को आधार से लिंक करना भूल गए होंगे तो आपकी जानकारी के लिए बता दें कि आरबीआई ने साफ कर दिया है कि वह इस तारीख को और आगे बढ़ाने नहीं जा रहा है। ऐसे में वे अब इन मोबाइल वॉलेट्स के जरिए 28 फरवरी के बाद अधिकांश लोग ट्रांजैक्‍शंस नहीं कर पाएंगे। हालांकि आरबीआई ने एक यह राहत जरूर दी है।


cover


खबरें आ रही है कि करीब 80 फीसदी लोगों ने अबतक अपना प्रीपेड ई-वॉलेट्स आधार से लिंक नहीं करवाया है तो आरबीआई ने कहा है कि, आपका वॉलिट में रखा मौजूदा बैलेंस बरकरार रहेगा और यूजर इसका इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके अलावा, आरबीआई ने कहा कि यूजर्स अपने पैसे को बैंक खाते में भी ट्रांसफर कर सकते हैं। इससे लोगों के पैसे फंसने से बच जाएंगे, गौरतल‍ब है कि हर महीने 10 हजार रुपए तक के प्रीपेड इंस्‍ट्रूमेंट्स के लिए केवाईसी जरूरतों को पूरा करना जरूरी है।

mobikwik-main


28 फरवरी थी आखिरी तारीख

अगर आप अपने प्रीपेड ई-वॉलेट्स से पैसे ट्रांसफर करने या फिर रीलोंडिंग करने के लिए आपको केवीआईसी करनी होगी। आरबीआई के इस फैसले से पेटीएम, मोबिक्विक, ओला मनी और ऐमजॉन पे जैसे ई-वॉलिट्स प्रभावित होने जा रहे हैं। आरबीआई के डिप्‍टी गवर्नर बी.पी. कानूनगो ने साफ कहा कि केवीआईसी डीटेल्स अपडेट करने की डेडलाइन 28 फरवरी थी और उसका एक्सटेंशन नहीं किया जा सकता।


mobile

50 ई-वॉलिट्स हैं फिलहाल

आरबीआई ने कहा गाइडलाइंस को फॉलो करने के लिए पहले ही पर्याप्त समय दिया जा चुका है। ऐसे में केवाईसी अपडेट की प्रक्रिया पूरी नहीं की जाती है, तो भी कस्टमर्स को उनकी जमा रकम का नुकसान नहीं होगा। गौरतलब है कि फिलहाल आरबीआई की ओर से मंजूरी प्राप्त 55 नॉन बैंक प्री-पेड इंस्ट्रूमेंट्स देश में चल रहे हैं। इनके अलावा 50 ई-वॉलिट्स ऐसे हैं, जिन्हें बैंक प्रमोट करते हैं।


DIGTAL-WALLET-


गौरतलब है कि आरबीआई ने ई-वॉलिट्स यूजर्स को केवीआई अपडेट के लिए 31 दिसंबर, 2017 तक का समय दिया था, बाद में इसे 28 फरवरी कर दिया गया था। देश के सबसे बड़ी ई-वॉलेट कंपनी पेटीएम, जो अब पेमेंट बैंक बन चुका है, उसने केवाईसी को पूरा करने के लिए 3250 करोड़ रुपये का बजट आवंटित किया है। हालांकि बड़ी संख्‍या में उसके कस्‍टमर्स ने भी केवाईसी नहीं भरी है।…Next




Read More:

एक नहीं बल्कि तीन बार बिक चुका है ताजमहल, कुतुबमीनार से भी ज्यादा है लंबाई!

सीरिया-इराक से खत्म हो रही IS की सत्ता, तो क्या अब दुनिया भर को बनाएंगे निशाना!

अक्षय ने शहीदों के परिवार को दिया खास तोहफा, साथ में भेजी दिल छू लेने वाली चिट्ठी

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग