blogid : 316 postid : 766586

उनका प्यार झूठा नहीं सच्चा है यह साबित करने के लिए जान दे दी

Posted On: 25 Jul, 2014 Common Man Issues में

जन-जन से जुड़ी दास्तांसमाज की विभिन्न जरुरतों व समस्यायों को उभारता और समाधान तलाशता ब्लॉग

Social Issues Blog

979 Posts

830 Comments

प्यार के नाम पर मरने वाले कई देखे होंगे लेकिन ये कैसी मौत थी यह समझना मुश्किल है. 14 साल की लड़की और 22 साल का लड़का. दोनों में 8 साल का फासला लेकिन प्यार हो गया. हो गया तो हो गया लेकिन दिक्कत तब हुई जब 14 साल की वह लड़की गर्भवती हो गई. मां-बाप को पता नहीं था, पता चलता तो शायद कुछ हल निकालते लेकिन शायद इतनी हिम्मत नहीं थी या कोई और डर था…और जिस दिन लड़की के गर्भ के ठीक तीन महीने पूरे हो रहे थे लड़का-लड़की दोनों ने एक साथ पेड़ से लटककर जान दे दी. मरने से पहले किसी के लिए कोई नोट नहीं छोड़ा. अब लोग संशय में हैं कि आखिर दोनों ने जान अपनी मरजी से दी या किसी ने जबरदस्ती उन्हें जान देने पर मजबूर किया.



Russian boy hanged w ith schoolgirl




वह किशोरी लड़की और अभी-अभी युवावस्था में कदम रखने वाला वह लड़का दोनों ही रूस के थे. बिना किसी नोट के दोनों की प्रेम कहानी उनकी लाश में भी दिख गई कि मरते हुए भी दोनों ने एक-दूसरे का हाथ मजबूती से पकड़ा हुआ था. मरने से ठीक पहले लड़की ने अपना फेसबुक स्टेटस डाला था ‘जिंदगी खूबसूरत है (Life is beautiful)’. उसके इस अंतिम स्टेटस से ऐसा लगता है जैसे वह बहुत खुश थी. तो क्या वह प्यार के लिए मरने पर इतना खुश थी?



Irina


Read More: यह चमत्कार है या पागलपन, 9 माह के गर्भ के साथ इस महिला ने जो किया उसे देख दुनिया हैरान है



पुलिस ने दोनों की लाश बरामद कर ली है. लड़की की मां ने इरीना के गर्भवती होने की पुष्टि की. इसलिए पुलिस यह मानकर चल रही है कि दोनों ने आपसी सहमति से आत्महत्या कर ली, क्योंकि अगर यह बात सामने आ जाती तो एक अवयस्क युवती को गर्भवती करने के लिए अनाटोली को जेल हो सकती थी जो वे दोनों ही नहीं चाहते थे. हालांकि अनाटोली के हाथ पर कुछ खरोंच के निशान हैं. इसे देखते हुए पुलिस को यह भी संदेह है कि कहीं ऐसा तो नहीं कि इरीना आत्महत्या न करना चाहती हो और अनाटोली ने उसे जबरदस्ती हाथों से पकड़े रहा.



Irina Korovina




Read More: फेसबुक पर वहशी बनी 19 साल की लड़की, तस्वीरें देखकर समझ जाइए क्यों मार्क जुकरबर्ग से उसके पेज को ब्लॉक करने की गुहार लगाई गई



यह तो एक छोटी सी प्रेम कहानी थी 14 साल की इरीना कोरोविना और 22 साल के अनाटोली मासलोव की. अगर वे जिंदा होते तो उनकी कहानी में आगे और भी बहुत कुछ होता. लेकिन यहां सवाल यह है कि मात्र 14 साल की जिस लड़की को युवा होने का मतलब भी शायद पता न होगा वह प्रेम के नाम पर अपनी जान देने को आतुर हो गई और 22 साल का वह नवयुवक अनाटोली जिसने अभी तक अपनी जिंदगी के मायने ठीक से समझे न होंगे वह अपनी प्रेम कहानी बनाने चल निकला.



teenage love



छोटी उम्र की ये प्रेम कहानियां आज नई नहीं हैं. भारत समेत पूरी दुनिया में ऐसी घटनाएं हो रही हैं. स्कूली बच्चों के प्रेम-प्रसंग चौंकाने वाले हैं. इस उम्र में आकर्षण कोई खतरे की बात नहीं लेकिन आकर्षण जब इरीना और अनाटोली की तरह हो तो परेशानी की बात है. जिस उम्र में अपना भविष्य बनाने के लिए वे कुछ कर सकते हैं उस उम्र में वे प्रेम कहानियों में अपना समय और योग्यता तो गंवाते ही है लेकिन कई बार अपनी जान भी.


उम्र के इस सहज आकर्षण को खत्म कर कच्ची उम्र के इन बच्चों से समझदारी की उम्मीद नहीं की जा सकती क्योंकि यह एक सहज अनुभूति है लेकिन मां-बाप चाहें तो इसे बहुत हद तक रोका जा सकता है. इसके लिए इन बच्चों को समय देने की जरूरत है. शुरुआत से ही बढ़ती उम्र के बदलावों के लिए उन्हें सचेत कर उनसे दोस्ताना व्यवहार कर उनकी परेशानियों को कम करने की जरूरत है. तब शायद ऐसे मामले मौत की हद तक न पहुंच पाएं.


Read More:

पांच वर्ष की उम्र में मां बनने वाली लीना की रहस्यमय दास्तां

जन्म के बाद ही उसे बाथरूम में छोड़ दिया गया था लेकिन 27 साल बाद उसने अपनी वास्तविक मां को खोज ही लिया, आखिर कैसे?

7 साल के बच्चे ने मरने से पहले 25000 पेंटिंग बनाई, विश्वास करेंगे आप?

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग