blogid : 316 postid : 757253

बारह साल की मासूम घर से दूर घने जंगलों में चाकुओं से गोद डाली गई, पढ़िए एक बच्ची का दिल बदलने की हृदयविदारक कहानी

Posted On: 21 Jun, 2014 Common Man Issues में

जन-जन से जुड़ी दास्तांसमाज की विभिन्न जरुरतों व समस्यायों को उभारता और समाधान तलाशता ब्लॉग

Social Issues Blog

979 Posts

830 Comments

8 जून, 2009 को अपनी फोटो को मैश करते हुए कोई नया फोटोग्राफ बनाने की एक प्रतियोगिता इंटरनेट पर आयोजित हुई. विक्टर सर्ज नाम के एक यूजर ने स्लेंडर मैन के नाम से एक पिक्चर पोस्ट की जिसमें एक साधारण सा बहुत लंबा और दुबला आदमी सफेद मास्क में ढका हुआ नजर आया. यह पिक्चर बच्चों में बहुत पॉपुलर हुई और इंटरनेट पर वायरल हो गई. इसकी पॉपुलरिटी का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि स्लेंडर मैन के खिलौने, वीडियोज और गेम्स भी आ गए. इस पर मूवीज भी बनीं. पर यह पॉपुलरिटी पॉजिटिव नहीं थी. इसने बच्चों को अपनी गिरफ्त में लेना शुरू किया. बच्चों में ‘स्लेंडर सिकनेस’ के लक्षण दिखने लगे और उनमें मेमोरी लॉस, पैरानोइया जैसी बीमारियों के लक्षण भी उभरने लगे.



Slender Sickness



पुरानी कहावत है कि बच्चे कच्ची मिट्टी की तरह होते हैं और उन्हें जिस रूप में ढालो वे वैसे ही ढल जाते हैं. आधुनिक विज्ञान भी मानता है कि किशोर बच्चों के मन पर उनके सामने हो रही घटनाएं बहुत अधिक प्रभाव डालती हैं. इसलिए बड़े-बुजुर्ग और बाल विशेषज्ञ भी बच्चों को बहुत अधिक हिंसक घटनाओं, फिल्मों आदि से दूर रखने की सलाह देते हैं. इंटरनेट और टीवी के आ जाने से बहुत अधिक ऐसा संभव नहीं रह गया है. यह एक बड़ी वजह है कि आजकल बाल-अपराध बढ़ रहे हैं. पिछले साल अमेरिका में स्कूली बच्चों के अपराध के कई मामले सामने आए. बच्चों के इन अपराधी प्रवृत्तियों की हालांकि हमेशा कोई ठोस वजह नहीं होती फिर भी कई बार हिंसक और डरावने खेल, वीडियो, पोस्टर्स, कहानियां, फिल्में आदि उन पर बुरा असर डाल सकती हैं. slस्लेंडर मैन का केस इसका एक बड़ा उदाहरण है. ‘स्लेंडर सिकनेस’ बच्चों का केस अपने आप में भयभीत करने वाला है.



Slendersickness


Read More: चार साल की उम्र में ड्रग और एल्कोहल! भरोसा नहीं तो इसे पढ़ें


31 मई, 2014 की घटना है. वौकेशा (‘मनी’ मैगजीन ने 2012 में यूनाइटेड स्टेट्स में रहने के लिए उसके ‘सबसे अच्छे 100 शहरों में वौकेशा’ को रखा था. 2011 और 2012 में अमेरिका के प्रॉमिस अलायंस ने भी यूनाइटेड स्टेट्स में ‘यंगस्टर्स के लिए 100 बेस्ट कम्यूनिटीज’ में वौकेशा को शामिल किया) के जंगलों में 12 साल की एक किशोरी को पुलिस ने चाकुओं से गुदा हुआ बहुत ही बुरी स्थिति में पाया. उसी की दोस्त, 12 साल की दो किशोरियों ने उसकी यह हालत की थी जिससे किसी तरह वह बच निकली थी. हैरानी की बात यह थी कि यह क्रिमिनल बच्चियां इंटरनेट के एक काल्पनिक कैरेक्टर ‘स्लेंडर मैन’ को खुश करने के लिए ऐसा करना चाहती थीं.



stabbed girl found in woods



पूछताछ में पता चला कि इन बच्चियों (अनीसा वीयर और मॉर्गन गीजर) ने एक हॉरर वेबसाइट पर स्लेंडर मैन के बारे में पढ़ा था. ‘निकोले नेशनल फॉरेस्ट’ के मेंशन में वे स्लेंडर मैन के साथ रहना चाहती थीं. इसलिए स्लेंडर मैन को खुश करने और उसका प्रतिनिधि बनने के लिए उन्होंने दिसंबर में ही इस दोस्त को मारना तय किया था. दोनों में एक लड़की ने बताया कि स्लेंडर मैन उसके सपने में आता है. उसे ऐसा लगता है कि स्लेंडर मैन उसे हमेशा देख रहा है और वह जो वह जो भी सोचती है उसे भी वह पढ़ सकता है.





वैकेशा काउंटी सर्किट कोर्ट ने दोनों क्रिमिनल बच्चियों का जुवेनाइल कोर्ट में सुनवाई करवाने से इनकार कर दिया और उनके गुनाह की एडल्ट गुनाह की तरह सुनवाई की जा रही है. संभव है उन्हें 60 साल की जेल की सजा सुनाई जाए. उनकी बेल के लिए कोर्ट कमिश्नर ने 500 हजार डॉलर की नगद की मांग की.



Anissa Weier and Morgan Geyser




Read More: 7 साल के बच्चे ने मरने से पहले 25000 पेंटिंग बनाई, विश्वास करेंगे आप?



स्लेंडर मैन के प्रभाव से बच्चियों के क्रिमिनल बनने का मामला अपने आप में बेहद खौफनाक और हर किसी को आतंकित करने वाला है. दोनों क्रिमिनल बच्चियों के माता-पिता शॉक की स्थिति में हैं. बच्चियों ने स्कूल या घर कहां स्लेंडर मैन के बारे में पढ़ा, कैसे इसके प्रभाव में आ गईं और उन्हें पता भी नहीं चला, वे यह समझ नहीं पा रहे हैं. पर स्लेंडर मैन का यह केस अकेला नहीं है.



Slender Man




Read More: तीस मिनट का बच्चा सेक्स की राह में रोड़ा था इसलिए मार डाला, एक जल्लाद मां की हैवानियत भरी कहानी



हैमिल्टन, ओहियो में 13 साल की एक बच्ची ने किचन में अपनी मां के चेहरे और गर्दन को चाकुओं से गोद डाला. ऐसा करते हुए उसने स्लेंडर मैन की तरह कपड़े पहने हुए थे और उसका हाथ और चेहरा ढका हुआ था. व्यक्तिगत तौर पर यह भले ही बच्चों और उनके परिवार की जिंदगियां तबाह करने वाला रहा हो लेकिन सामाजिक दृष्टि से समाज के हर तबके लिए खतरे की घंटी और सचेत करने वाला है. आजकल टीवी और थिएटर तक बच्चों की भी पहुंच है. विशेषज्ञ हमेशा बच्चों को डरावनी और हिंसात्मक प्रभाव वाले दृश्यों, खिलौनों और फिल्मों आदि से दूर रहने की सलाह देते हैं किंतु सामान्यतया लोग इसे अनदेखा कर जाते हैं. स्लेंडर मैन से जुड़ा यह केस इस बात को पुख्ता करता है. ऐसे कई और भी केस सामने आए हैं.



Girl



-पॉपुलर टीवी सिरीज ‘डेक्सटर’ को कॉपी करते हुए 2009 में एंथनी कोन्ले ने अपने भाई को मार डाला और उसे उम्रकैद की सजा हुई.

-वीडियो गेम ग्रैंड थेफ्ट ऑटो को कॉपी करते हुए 14 साल के एल्डन सैमुअल थ्री ने अपने भाई और पिता को मार डाला. सैमुअल ने बताया कि यह सब उसने गेम के एक कैरेक्टर ट्रेवर फिलिप्स से प्रभावित होकर किया.

-2012 में हॉरर फिल्म ‘हैलोवीन’ से प्रभावित होकर जेक एवेंस ने अपनी मां और बहन को मार डाला. जेक ने माना कि वह हैलोवीन के निगेटिव कैरेक्टर, सीरियल किलर मिशेल मेयर से प्रभावित था.

-1996 में 24 वर्षीय थिएरी जैराडिन ने अपने स्क्रीम मूवी के स्केलेटन कैरेक्टर मास्क को पहनकर अपने पड़ोसी को 30 बार चाकुओं से गोदकर बर्बरतापूर्वक मार डाला. थिएरी अभी उम्रकैद की सजा काट रहे हैं.

-ट्विलाइट मूवी से प्रभावित 10 साल के डेस मोइंस ने अपने 11 क्लासमेट्स को दांतों से काटा. जुवेनाइल कोर्ट में सुनवाई के बाद वह अभी सुधार गृह में है.


Read More:

जन्म के बाद ही उसे बाथरूम में छोड़ दिया गया था लेकिन 27 साल बाद उसने अपनी वास्तविक मां को खोज ही लिया, आखिर कैसे?

पाकिस्तान की दिल दहलाने वाली हकीकत, जो कहानी हम बताने जा रहे हैं वह इंसानी समाज की रूह कंपाने वाली है

उसके पास दोनों बांहें नहीं हैं फिर भी टेनिस चैंपियन बन गया, वीडियो में देखिए हैरान करने वाली यह घटना

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग