blogid : 316 postid : 1390242

इंटरनेट पर करते हैं ये काम, तो इन 5 तरीकों साइबर क्रिमिनल्स बनाते हैं आपको शिकार

Posted On: 28 Nov, 2018 Common Man Issues में

Pratima Jaiswal

जन-जन से जुड़ी दास्तांसमाज की विभिन्न जरुरतों व समस्यायों को उभारता और समाधान तलाशता ब्लॉग

Social Issues Blog

845 Posts

830 Comments

आज के वक्त में इंटरनेट के बिना रहना थोड़ा मुश्किल है। खासतौर पर अगर आप किसी शहर में रहते हैं और ऑफिस या कॉलेज जाते हैं।
ऐसे में बैकिंग से लेकर शॉपिंग तक कई तरह के काम हम इंटरनेट से करते हैं। लेकिन इन जरुरतों के साथ कई तरह की चुनौतियां भी इससे जुड़ी हुई है। जैसे कई लोग इंटरनेट की वजह से साइबर क्रिमिनल्स का शिकार बन चुके हैं। ऐसे में आपको वो बातें जान लेनी चाहिए जिससे आप इसका शिकार हो सकते हैं।

 

 

फिशिंग मेल
आरबीआई, सरकारी एजेंसियां और बैंक वर्षों से ऐसी ईमेल के बारे में आगाह करते आए हैं, लेकिन इसके बावजूद यह बड़ी समस्या बनी हुई है। कई फर्जी ईमेल भेजी जाती हैं, जिनके बारे में लगता है कि उन्हें आरबीआई या आपके बैंक ने भेजा है। इसमें आपको एक वेबसाइट को विजिट कर अपने अकाउंट को अपडेट करने को कहा जाता है। वेबसाइट को विजिट करने के बाद आपसे पर्सनल इंफर्मेशन शेयर करने को कहा जाता है।

 

आरबीआई या किसी बैंक से फोन
फर्जीवाड़ा करने वाले आरबीआई अधिकारी बनकर आम लोगों को फोन करते हैं और उनसे जानकारियां मांगते हैं। ऐसे लोग पहले आपके बारे में कहीं और से कुछ सूचनाएं जुटाते हैं और उसके बाद फोन करते हैं। ऐसा इसलिए ताकि आप उनके आरबीआई से होने के दावे पर यकीन करें। हाल में ऐसी कई घटनाएं सामने आई हैं।

 

 

 

टैक्स फ्रॉड
हैकिंग, डेटा ब्रीच या फिशिंग ईमेल से अपराधी आपकी जानकारियां चुरा सकते हैं। ऐसे में अगर उनके पास आपका पैन नंबर और कुछ महत्वपूर्ण जानकारियां हैं तो वे आपके नाम से फर्जी टैक्स रिटर्न भी फाइल कर सकते हैं।

 

ईनाम या लॉटरी जीतने वाले ईमेल
अगर आपने किसी लॉटरी में हिस्सा नहीं लिया है तो किसी भी ऐसे ईमेल में दिए गए लिंक पर क्लिक न करें, जिसमें आपको आकर्षक प्राइज जीतने की बधाई दी जा रही हो। ऐसे लिंक पर क्लिक करने से पहले दो बार सोचिए क्योंकि हो सकता है कि यह आपके सिस्टम में कोई सॉफ्टवेयर डाउनलोड कर दे, जो आपकी सभी प्राइवेट डेटा को साइबर क्रिमिनल तक पहुंचा दे।

 

पब्लिक वाई-फाई नेटवर्क
एक पब्लिक वाई-फाई नेटवर्क से कोई भी आपके डेटा तक पहुंच सकता है। इसलिए कॉफी शॉप में बैठकर कभी टैक्स फाइल न करिए। न ही बैंक से जुड़ा कोई काम करिए। इनसे बचने के लिए आप एक वीपीएन का इस्तेमाल कर सकते हैं…Next

 

 

Read More :

इस देश में पचास लाख में बिक रहा है 1 किलो टमाटर, महामंदी के दौर से लोग हुए बेहाल

जीका वायरस की चपेट में राजस्थान, जानें क्या है जीका वायरस और कैसे फैलता है

वो नेता जो पहले भारत का बना वित्त मंत्री, फिर पाकिस्तान का पीएम

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग