blogid : 316 postid : 1393846

शशिकांत दुबे ने बताई पुलिस पर हमले की कहानी, विकास ने 4 घरों की छत से घेरा था पुलिस को, कहा था कोई बचकर न जाए

Posted On: 14 Jul, 2020 Hindi News में

Rizwan Noor Khan

जन-जन से जुड़ी दास्तांसमाज की विभिन्न जरुरतों व समस्यायों को उभारता और समाधान तलाशता ब्लॉग

Social Issues Blog

1280 Posts

830 Comments

 

 

कुख्यात विकास दुबे के साथी शशिकांत दुबे को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। शशिकांत ने घटना वाले दिन की पूरी कहानी पुलिस के सामने उगल दी है। उसने बताया कि खुद विकास दुबे ने पुलिस के आने से पहले ही हत्याकांड की ब्यूह रचना की थी। चार घरों की छत से करीब 21 लोगों ने पुलिस टीम को घेरकर मारा था। विकास ने कहा था कोई आज बचकर नहीं जाना चाहिए।

 

 

 

 

 

फरार शशिकांत गिरफ्तार
एएनआई की रिपोर्ट के अनुसार चौबेपुर के बिकरू गांव में सीओ समेत 8 पुलिसकर्मियों की हत्या करने वाले विकास दुबे ने घटना की ब्यूहरचना की थी। आईजी लॉ एंड आर्डर ज्योति नारायण ने बताया कि घटना में वांछित अपराधी शशिकांत उर्फ सोनू पांडेय को आज गिरफ्तार कर लिया गया है।

 

 

 

 

पुलिस से छीने हथियार बरामद
आईजी लॉ एंड आर्डर ज्योति नारायण ने कहा कि शशिकांत दुबे घटना वाले दिन विकास दुबे के साथ मिलकर पुलिस बल पर हमला किया था। शशिकांत पर 50 हजार रुपये का इनाम था। हमले के बाद पुलिस से छीनी गई AK47 राइफल उसके 17 कारतूस और एक इंसास राइफल और उसके 20 शशिकांत पांडेय के पास से बरामद की गई है।

 

 

 

 

चार घरों की छत से हुआ था पुलिस पर हमला
शशिकांत दुबे ने पुलिस को बताया कि रेड की सूचना मिलने पर विकास दुबे ने युद्ध जैसी रणनीति बनाई थी और अपने गुर्गों को दोनों घर की छतों पर तैनात किया था। जबकि, शशिकांत की छत पर और प्रभात की छत पर करीब 30 गुर्गे हथियारों से लैस होकर मोर्चा ले रहे थे। विकास ने कहा था कि आज कोई बचकर नहीं जाएगा। उसने अपने गुर्गों को अलग-अलग जिम्मेदारी सौंपी और उन्हें हर कोने में तैनात किया था।

 

 

शशिकांत दुबे की पत्नी मनु।

 

 

हथियारों से लैस 21 लोगों ने की थी ताबड़तोड़ फायरिंग
मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक शशिकांत ने पुलिस को बताया कि विकास दुबे खुद अपने एक घर की छत पर अमर दुबे, अतुल दुबे और दयाशंकर के साथ असलहा लेकर बैठा था। दूसरी छत से राम सिंह, अखिलेश मिश्रा, बिपुल दुबे और दो अन्य लोग फायरिंग कर रहे थे। शशिकांत के घर की छत पर उसके पिता प्रेम प्रकाश, गोपाल, हीरू, वह खुद और दो अन्य लोग गोलियां चला रहे थे। मुठभेड़ में मारे गए प्रभात मिश्रा घर की छत पर उसके पिता राजेंद्र मिश्रा, प्रभात मिश्रा, शिवम, बाल गोविंद और एक अन्य व्यक्ति हथियारों गोलियां बरसा रहे थे।

 

 

 

 

विकास के घर से मिले थे अवैध हथियार और विस्फोटक
कुख्यात विकास दुबे घटना के बाद उज्जैन के महाकाल मंदिर से गिरफ्तार हुआ था। वह यूपी लाते वक्त कानपुर के नजदीक भौंती में गाड़ी पलटने के बाद फरार होने की कोशिश की और पुलिस पर गोलियां चलाईं। पुलिस ने इस बीच विकास को मौत की नींद सुला दिया था। बता दें कि बिकरू की घटना के बाद विकास दुबे के घर में तलाशी के दौरान 2 किलो विस्फोटक पदार्थ, 6 तमंचे, 15 देशी बम और 25 कारतूस बरामद हुए हैं। विकास दुबे के घर में बंकर मिलने की बात भी पुलिस ने घटना के अगले दिन बता थी।..NEXT

 

 

 

 

 

Read More :

गैंगस्टर विकास दुबे का पता बताने वाले को मिलेंगे इतने लाख, इफॉर्मेशन लीक करने वाले 3 सिपाही सस्पेंड

विकास दुबे के घर में था बंकर और देसी बम का जखीरा, बड़े पैमाने पर तमंचे और कारतूस मिले

विकास दुबे पर 5 लाख हुआ इनाम, मजदूर बनकर पुलिस को गच्चा देने वाला था साथी, भाई इनकाउंटर में ढेर

विकास दुबे का तगड़ा था ‘नेटवर्क’ पुलिस के पहुंचने से पहले ही पता चल गया था

दुनियाभर में बन रहीं कोरोना की 149 वैक्सीन, आने में लगेगा इतना समय

भारत की मदद से 150 देशों के हालात सुधरे, कोरोना महामारी का बने हैं निशाना

दुनिया के 12 देशों की सीमा लांघ नहीं पाया कोरोना, अब तक नहीं मिला एक भी मरीज

 

 

 

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग