blogid : 2445 postid : 1120799

अंधेर नागरी चौपट राजा टके सेर भाजी टके सेर खाजा !

Posted On: 7 Dec, 2015 Others में

पाठक नामा -JUST ANOTHER BLOG

s.p. singh

206 Posts

722 Comments

जैसा की दिल्ली के माननीय मुख्य मंत्री के विषय में हम जानते है ! वह शार्ट कट के बहुत बड़ेविशेषज्ञ हैं ! चाहे उनका व्यक्तिगत जीवन हो ? सामजिक आंदोलन कारी आरोप प्रत्यारोप जीवन हो या फिर राजनिति की चाटुकारिता वाली भागम भाग ! या सत्ताधारी राजनेता की अकड़ ! उनका स्वभाव बिलकुल वैसा ही है जैसे एक चतुर व्यक्ति करता है जब वह जिस। सीढ़ी पर चढ़कर ऊपर पहुँचता है तो उस सीढ़ी को हटा देता है या फिर तोड़ देता है की उसका संगी साथी चढ़ कार ऊपर न पहुँच जाय?

मीडिया में बने रहने ले लिए एक चतुर जागरूक और चालाक लोमड़ी की भांति किसी भी विवाद को हवा दे देना उनके बांये हाथ का काम है ? अभी जब न्यायालय ने दिल्ली में हो रही प्रदूषण पर चिंता जाहिर की तो मुख्य मंत्री ने फरमान जारी कर दिया की दिल्ली में एक दिन सम संख्या की नंबर वाली गाड़ियां चलेंगी अगले दिन विषम नंबर की संख्या वाली गाड़ियां चलेंगी ? परिक्षण के तौर पर 15 दिन के लिए यह प्लान १ जनवरी २०१६ से लागु किया जाएगा ! इससे दिल्ली वालों को क्या परेशानी होगी ये तो वे ही बता सकेंगे ! लेकिन हमें तो लगता है की यह प्लान लागू होने से पहले ही फ्लॉप हो जायेगा ! क्योंकि कोई भी कानून तब ही लागू होता है जब उसको लागु करने के लिए सक्षम फ़ोर्स और मैनपावर आपके पास हो ! और सड़क पर लागु होने वाले किसी भी नियम को लागू करने के लिए सक्षम ट्रैफिक पुलिस का होना अत्यंत आवश्यक है , पुलिस के आभाव में कानून ही नहीं लागू हो सकता ?

अब बात करते है दिल्ली पुलिस और दिल्ली सरकार की ! जैसा की मीडिया के द्वारा मालूम होता है क़ि दिल्ली पुलिस दिल्ली सरकार के कंट्रोल में नहीं है चूँकि दिल्ली पुलिस केंद्र सरकार के आधीन है ? ऐसी स्थिति में मान लो सम और विषम दोनों नम्बर की गाड़ियां सड़कों पर आ जाती है तो फिर उनको रोकेगा कौन ? जाहिर है कोई नहीं लेकिन दिल्ली का मुख्य मंत्री दोनों स्थिति में भी हीरो बन ही जायेगा यानि चित भी मेरी पट भी मेरी और अंटा मेरे बाप का । वैसे भी मुख्य मंत्री का यह कदम उनके द्वारा उठाये गये छोटे कदम के आगे बड़े कदम जैसा ही है जब उन्होंने अपने विधायकों की सेलरी (वेतन) चार गुणा कर दिया है जिसको डायलुट करने के लिए ही सड़क का अँधा क़ानून लागु करने की घोषणा की है ?! इसी को कहते हैं अंधेर नागरी चौपट राजा टके सेर भाजी टके सेर खाजा !

एस पी सिंह, मेरठ ।

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग