blogid : 25591 postid : 1325650

कहानी बदलाव की (१) ..........

Posted On: 18 Apr, 2017 Others में

PriyaTarangJust another Jagranjunction Blogs weblog

somanshupriyadarsi

3 Posts

2 Comments

कहानी बदलाव की (१) ……….

बीते दिनों की सारी कहानी, लीजिये कवि के कविता की ज़ुबानी।
ये उस सफर की कहानी है जिससे हम बदलाव कहते हैं।
तो इस सफर की कहानी का हिस्सा बने और देश की नई कहानी आप भी लिखे और हम भी।

यूपी में योगी जी आये,
अब क्या विकास भी आएगा।
इतने सालों में जो हो नहीं पाया,
क्या अब की बार हो जायेगा।

बाटने वाले नेता सुन ले, अब तू बाट न पाएगा,
विकास की रोटी एक ही होती, क्या उसको भी धर्म सिखाएगा। ।

योगी जी क आते ही देखो,
रोमियों सारे काँपे हैं,
हर रोज़ टीवी पे अब तो सिर्फ,
योगी योगी ही आते हैं।

प्रशांत भूषण और राम गोपाल वर्मा कान्हा को मनचला कहते है,
मेरे देश की महानता है ऐसी की इन जैसों को भी झेलते है।

दिल्ली के तो भाग ही फूटे,
जो ऐसा सीएम आया हैं,
खुद क पंगो के जितने बिल है,
उसपे जनता का पैसा लुटाया है,

जो अपने ज़ुबां से तीखे तीखे बयानों से पंगा करते है ,
जब केस हो गया तब न जाने, ये क्यूँ बिल भरने से डरते है।

चप्पलमार नेता भी कैसे,
बातों क जाल बनाते है,
पहले तो चप्पल हैं उठाते,
फिर खुद को साफ दिखाते हैं।

इन जैसे नेता के वजह से, मेरी भारत माता रोती हैं,
ऐसे नेता को ये नहीं मालूम, जनता की गर्ज क्या होती है।

किसान के क़र्ज़ का बोझ हटाया,
अब फांसी नहीं खुशहाली हैं।
जब तक वीर चेतन चिता है,
हर काली रात दिवाली हैं।

हम बदलें तो देश बदलेगा, ये अलक अब जगानी हैं ,
बदलाव क सफ़र के इस करि की बस इतनी ही कहानी है ।

JAI HIND

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग