blogid : 5617 postid : 704451

*यादों में*

Posted On: 17 Feb, 2014 Others में

शब्दस्वरJust another weblog

vaidya surenderpal

79 Posts

344 Comments

*यादों में*
—————.spring

आज फिर,
यादों में कोई आ गया है।
.
अलविदा कहकर,
गया था मैं जिसे।
भूलने की,
लाख कोशिश की उसे।
.
फूलों में शायद,
महकता वह रह गया है।
.
साथ उसका,
ही सुहाता था मुझे।
रूप का वह भाव,
भाता था मुझे।
.
मुस्कुराता फूल,
फिर कुछ कह गया है।
.
स्वप्न की दुनिया में,
जीना छोड़कर।
यथार्थ से ही,
आज नाता जोड़कर।
.
आंख से आंसू,
टपकता कह गया है।

——————-
-सुरेन्द्रपाल वैद्य।

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (2 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग