blogid : 312 postid : 887

अंतिम चुनौती

Posted On: 12 Dec, 2010 Sports में

खेल संसारकौन जीता कौन हारा कौन बना सरताज, खेलों की दुनियां का लिखते सब हाल

Sports Blog

437 Posts

269 Comments

Team Indiaकुछ दिनों में न्यूज़ीलैण्ड के साथ सफरनामा खत्म हो जाएगा और सभी का ध्यान दक्षिण अफ्रीका की तरफ़ होगा. न्यूज़ीलैण्ड के खिलाफ़ तो हमने आसानी से किला फतह कर लिया, लेकिन दक्षिण अफ्रीका को उन्हीं के देश में हराना बहुत मुश्किल है. गौर करने की बात यह है कि अभी तक भारत ने दक्षिण अफ्रीका में कोई भी टेस्ट श्रृंखला नहीं जीती है. श्रृंखला तो छोड़िए हमने दक्षिण अफ्रीका में अब तक केवल एक टेस्ट मैच जीता है.

टीम इंडिया का दक्षिण अफ्रीका का दौरा भारतीय क्रिकेट टीम के लिए बहुत महत्वपूर्ण है. दक्षिण अफ्रीका के इस दौरे के बाद भारत विश्व कप में भाग लेगा और अगर हम दक्षिण अफ्रीका से हारते हैं तो यह टीम इंडिया के मनोबल को कम कर सकता है.

दक्षिण अफ्रीका का दौरा हमेशा से हमारे लिए चुनौती लेकर आता है. दक्षिण अफ्रीका के दौरे में एक क्रिकेटर की तकनीक के साथ–साथ, मानसिक धैर्य, मनोबल, आत्मविश्वास, दृष्टिकोण की भी परीक्षा होती है. दूसरे शब्दों में यह श्रृंखला न्यूजीलैंड के खिलाफ हुई श्रृंखला के बिल्कुल विपरीत होगी. जहां दक्षिण अफ्रीका की पिच भारतीय पिचों के मुकाबले तेज़ होती है वहीं वहां की पिच में अधिक बाउंस होता है और गेंद स्विंग भी करती है. यह ऐसी परिस्थितियां हैं जो भारत में नहीं पाई जाती हैं.

इससे पहले भारत ने 2006 में राहुल द्रविड़ की कप्तानी में दक्षिण अफ्रीका का दौरा किया था. और हम कह सकते हैं कि यह वही दौरा था जिसने भारतीय टेस्ट टीम की किस्मत बदल दी. इस सीरीज़ में भारत ने जोहांसबर्ग टेस्ट मैच में दक्षिण अफ्रीका को आसानी से हराया परन्तु बाकी के दो टेस्ट मैच में हमें हार का मुंह देखना पड़ा. भले ही हम यह श्रृंखला हार गए लेकिन पहले टेस्ट मैच में मिली जीत ने टीम इंडिया के आत्मविश्वास में चार-चाँद लगा दिया. पहली बार भारतीय क्रिकेट टीम भी यह सोचने लगी कि अगर वह दक्षिण अफ्रीका को उन्हीं के देश में हरा सकती है तो वह किसी भी देश को कहीं भी हरा सकती है.

India Vs South Africaआज हम कह सकते हैं कि दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ़ मिली जीत ने टीम इंडिया के लिए अमृत का कार्य किया. इस जीत से प्रेरणा लेकर आज टीम इंडिया टेस्ट क्रिकेट में नंबर एक टीम बना गई. आज धोनी के नेतृत्व वाली टीम केवल जीतने के लिए खेलती है. आज भले कोई भी परिस्थिति हो, चाहे जीत का द्वार दिख भी नहीं रहा हो, लेकिन आज टीम इंडिया के खिलाड़ी जानते हैं कि जीत क्या होती है और उसे कैसे हासिल किया जाता है. श्रीलंका और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ़ मिली जीत टीम इंडिया की जीत के प्रति लगन की दास्तां बयां करती है.

लेकिन क्या जीत पर जीत हासिल करने वाली यह टीम विश्व कप से पहले की अंतिम चुनौती भी पार कर पाएगी. इसका फैसला तो कुछ समय बाद होगा लेकिन अगर हममें जीत का जज्बा होगा तो हम ज़रूर जीतेंगे.

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 4.00 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग