blogid : 312 postid : 1389313

6 साल की उम्र से टेनिस खेल रही हैं सानिया, ऑस्ट्रेलिया से शुरू हुई थी शोएब के साथ लव स्टोरी

Posted On: 15 Nov, 2018 Sports में

Shilpi Singh

खेल संसारकौन जीता कौन हारा कौन बना सरताज, खेलों की दुनियां का लिखते सब हाल

Sports Blog

370 Posts

269 Comments

भारत की टेनिस सनसनी सानिया मिर्जा आज 32 साल की हो गई हैं। कम उम्र में ही सफलता के झंडे का गाड़ने वाली सानिया ने अपनी करियर की शुरुआत साल 1999 में की थी। तब से लेकर आजकल सानिया केवल रिकॉर्ड बना रही हैं। हालंकि इस दौरान उन्होंने कई सारे उतार चढ़ाव देखे लेकिन वो हार नहीं मानी और देश का रौशन किया। हाल ही में सानिया ने एक बेटे को जन्म दिया है, ऐसे में चलिए एक नजर उनके करियर पर।

 

 

पिता इमरान थे रिपोर्टर

सानिया का जन्म 5 नवंबर 1986 को हैदराबाद में हुआ था। उनकी शुरुआती पढ़ाई हैदराबाद के एनएएसआर स्कूल में हुई। हैदराबाद के ही सेंट मैरी कॉलेज से उन्होंने स्नातक किया। सानिया के पिता इमरान खेल रिपोर्टर थे और मां नसीमा मुंबई में प्रिंटिंग व्यवसाय से जुड़ी एक कंपनी में काम करती थीं।

 

 

छ्ह साल की उम्र से खेल रही हैं टेनिस

सानिया को कामयाब बनाने में उनके पिता का अहम योगदान है। हैदराबाद के निजाम क्लब में सानिया ने छ्ह साल की उम्र से टेनिस खेलना शुरू किया। महेश भूपति के पिता और भारत के सफल टेनिस प्लेयर सीके भूपति से सानिया ने अपनी शुरुआती कोचिंग ली। पैसे की कमी के चलते सानिया के पिता ने कुछ बड़े व्यापारिक समूहों से स्पांसरशिप ली। हैदराबाद से शुरुआत करने के बाद वह अमेरिका की टेनिस अकेडमी गईं।

 

 

17 साल में विंबलडन चैंपियन

सानिया ने अपने अंतरराष्ट्रीय करियर की शुरुआत 1999 में विश्व जूनियर टेनिस चैंपियनशिप में हिस्सा लेकर की, उस समय वे महज 14 साल की थीं। उसके बाद उन्होंने कई अंतरराष्ट्रीय मैचों में शिरकत की और सफलता भी पाई। 2003 में उनकी किस्मत चमकी जब वाइल्ड कार्ड एंट्री करने के बाद उन्होंने जूनियर विंबलडन में डबल्स में जीत हासिल की।

 

 

सानिया की उपलब्धियां

2007 के मध्य में सानिया की एकल में अंतरराष्ट्रीय रैंकिंग 27 तक पहुंच गई थी जो किसी भी भारतीय महिला टेनिस खिलाड़ी के लिए सबसे ज्यादा थी। 2006 में दोहा में हुए एशियाई खेलों में उन्होंने लिएंडर पेस के साथ मिश्रित युगल का स्वर्ण पदक जीता। महिलाओं के एकल मुकाबले में दोहा एशियाई खेलों में उन्होंने रजत पदक जीता। 2009 में उन्होंने महेश भूपति के साथ ऑस्ट्रेलियन ओपन का मिक्स डबल्स खिताब जीता। इसी के साथ वो ग्रैंड स्लैम जीतने वाली पहली भारतीय महिला खिलाड़ी बनीं। इसी साल अप्रैल में सानिया और हिंगिस की जोड़ी ने नंबर-1 की रैंकिंग हासिल की। वे नंबर वन टेनिस रैंकिंग तक पहुंचने वाली भारत की पहली महिला खिलाड़ी बनीं। वो भारत की नंबर वन महिला टेनिस प्लेयर भी रह चुकी हैं।

 

 

विवादों से भरा रहा है कॅरियर

टेनिस महिला डबल्‍स में विश्‍व नंबर 1 खिलाड़ी सानिया मिर्जा के जीवन में विवादों का भी दौर रहा है। कभी उनकी ड्रेसिंग को लेकर विवाद रहा तो कभी तिरंगे का अपमान करने का आरोप लगा।

 

 

ये सम्‍मान मिले हैं सानिया मिर्जा को

2004 में अर्जुन अवॉर्ड से सम्मानित हुई उसके बाद भारत सराकर ने उनकी खेल को देखते उन्हें साल 2006 में पद्मश्री और 2006 में डब्‍ल्‍यूटी का ‘मोस्‍ट इम्‍प्रेसिव न्‍यू कमर’ का अवॉर्ड। इसके साथ ही उन्हें पद्म भूषण से भी सम्मित किया गया है।

 

 

जिते हैं इतने ग्रैंड स्लैम

ग्रैंड स्लैम की बात करें तो सानिया ने सबसे पहले साल 2009 में ऑस्ट्रेलियन ओपन का मिक्स डबल्स खिताब जीता था इसके बाद साल 2012 में फ्रेंच ओपन मिक्स डबल्स का खिताब, 2014 में यूएस ओपन मिक्स डबल्स खिताब और 2015 में विंबलडन का युगल खिताब भी अपने नाम किया।

 

 

ऑस्ट्रेलिया में टूर्नामेंट के दौरान हुई पहली मुलाकात

2010 में सानिया होबार्ड ऑस्ट्रेलिया में टूर्नामेंट खेलनी गईं थीं और शोएब भी अपनी टीम के साथ वहीं थे। होबार्ड के एक भारतीय रेस्तरां में सानिया पिता इमरान मिर्जा, कोच लेन के साथ डिनर के लिए गई थीं। शोएब उनके टेबल तक आए और बोले- हलो। बातचीत में शोएब ने सानिया का मैच देखने की इच्छा जताई। मैच के बाद सानिया के डैडी ने शोएब को डिनर के लिए इनवाइट किया। इस मुलाकात के बाद सानिया और शोएब की फोन पर बातें शुरू हो गईं और शोएब का प्लान सक्सेस हो गया।

 

 

सानिया का नंबर ऐसे लिया

दरअसल, सानिया-शोएब पहले से एक-दूसरे को जानते थे। दिल्ली में एक होटल के जिम में दोनों को एक पत्रकार ने मिलवाया था। मोहाली में एक और मौका था, जब दोनों दोबारा मिले। सानिया भारत-पाकिस्तान वनडे मैच देखने गई थीं। इन दो मुलाकातों के बाद ही शोएब ने ठान लिया था कि किसी भी हाल में सानिया का मोबाइल नंबर लेकर रहेंगे।

 

 

जब रिश्तेदार ने कहा, घर के पर्दे लगा लो

चैनल सानिया के घर की एक-एक एक्टिविटी को लाइव दिखा रहे थे, मिर्जा परिवार को इसका एहसास नहीं था। जब सानिया के पिता इमरान मिर्जा को उनके एक रिश्तेदार का फोन आया जिसमें उन्होंने पूछा- ‘क्या सानिया हरी टी-शर्ट पहनी है.?’ जवाब में मिर्जा ने कहा-‘हां’। तब रिश्तेदार ने लगभग चीखते हुए कहा- ‘पूरे घर के पर्दे लगा दो, चैनल तुम्हें लाइव दिखा रहे हैं’। हालांकि दोनों की शादी अच्छे से हो गई और दोनों 8 साल से साथ में हैं।…Next

 

Read More:

सानिया और शोएब का बेटा किस देश का होगा नागरिक, क्रिकेटर ने दिया ये जवाब

चाइना की हैं बैडमिंटन खिलाड़ी ज्वाला गुट्टा की मां, 6 साल में टूट गई थी ज्वाला की शादी

सड़क पर भीख मांगने को मजबूर पैरा-एथलीट, सरकार से नहीं कोई मदद

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग