blogid : 312 postid : 893

लो आ गया वक्त फिर से नीलाम होने का

Posted On: 10 Dec, 2010 Sports में

खेल संसारकौन जीता कौन हारा कौन बना सरताज, खेलों की दुनियां का लिखते सब हाल

Sports Blog

441 Posts

269 Comments

IPL-players-auctionचलिए आईपीएल 4 के बारे में जो सोचा गया था वही हुआ. इस बार के आईपीएल में अब सभी दस टीमें भाग लेंगी. आखिरकार कुछ मापदंडों के बाद किंग्स इलेवन पंजाब को भी इस बार के आईपीएल में भाग लेने की हरी झंडी मिल गई.

कोर्ट–कहचरी, नियम–कानूनों की लड़ाई के बाद यह जंग दूसरे पड़ाव में पहुंच गई है. आईपीएल के दूसरे पड़ाव का मतलब अपनी सेना तैयार करना है.

जब आईपीएल शुरू हुआ था तब यह तय किया गया था कि तीन साल तक हर टीम में एक–एक आइकन खिलाड़ी होगा. इस आधार पर सचिन तेंदुलकर, सौरभ गांगुली, राहुल द्रविड़, महेंद्र सिंह धोनी, शेन वार्न, वी.वी.एस लक्ष्मण और युवराज सिंह को विभिन्न टीमों का आइकन खिलाड़ी चुना गया. इसके बाद हुई खिलाड़ियों की नीलामी.

सभी टीमों ने बहुत पैसा खर्च किया और अपनी टीम को मजबूत बनाने के लिए एक से बढकर एक धुरंधरों की सेना खड़ी की. आईपीएल के नियम के अनुसार इन खिलाड़ियों को तीन सालों के लिए अनुबंधित किया गया. अब तीन साल पूरे हो गए हैं. सभी खिलाड़ियों का अनुबंध भी खत्म हो गया है.

अनुबंध खत्म होने के बाद एक शर्त यह भी रखी गई थी कि आप मौजूद खिलाड़ियों में से किन्हीं चार खिलाड़ियों को रख सकते हैं. इसके एवज़ में आपको पहले खिलाड़ी को रिटेन करने के लिए तकरीबन 8.11 करोड़, दूसरे को रिटेन करने के लिए 5.86 करोड़, तीसरे को रिटेन करने के लिए 4 करोड़ और चौथे को रिटेन करने के लिए 2.25 करोड़ खर्च करने होते हैं. इसके अलावा आप केवल एक टीम में तीन से ज़्यादा भारतीय खिलाड़ी रिटेन नहीं कर सकते हैं.

अब आईपीएल गवर्निंग कमिटी द्वारा प्रतिधारण या रिटेन करने के लिए दिया गया समय समाप्त हो गया है. इस दौरान जहां मुंबई इंडियन और चेन्नई सुपर किंग्स ने चार–चार खिलाड़ी रिटेन किए वहीं राजस्थान रॉयल ने दो, दिल्ली डेयरडेविल्स और रॉयल चैलेंजर बंगलोर ने एक–एक खिलाड़ी रिटेन किया. वहीं डेक्कन, पंजाब और कोलकाता ने किसी भी खिलाड़ी को रिटेन नहीं किया.

प्रतिधारित खिलाड़ी

 

टीम खिलाड़ी
मुंबई इंडियन सचिन तेंदुलकर, हरभजन सिंह, केरॉन पोलार्ड, लसिथ मलिंगा
चेन्नई सुपर किंग्स महेंद्र सिंह धोनी, सुरेश रैना, मुरली विजय, एल्बी मोर्केल
राजस्थान रॉयल शेन वार्न, शेन वाटसन
दिल्ली डेयरडेविल्स विरेन्द्र सहवाग
रॉयल चैलेंजर बंगलोर विराट कोहली

 

आईपीएल की टीमों के इस फैसले से बहुत से लोग हैरान हैं. इन सब में सबसे बड़ा हैरानी का फैसला रॉयल चैलेंजर बंगलुरू द्वारा विराट कोहली को रिटेन करने का है. बंगलोर टीम से आशा थी कि वह कैलिस या रोंस टेलर में से किसी एक को रिटेन ज़रूर करेगा. लेकिन ज़बरदस्त फॉर्म में चल रहे विराट पर बंगलोर ने भरोसा दिखाया. वहीं कोलकाता के किसी भी खिलाड़ी को रिटेन न करने के फैसले ने सबको हैरत में डाल दिया. सब ने आशा लगाई थी कि कोलकाता नाइट राइडर्स “दादा”(सौरभ गांगुली) को ज़रूर रिटेन करेगी. दादा न केवल एक बढ़िया खिलाड़ी हैं बल्कि वह कोलकाता और पूरे बंगाल का चेहरा भी हैं. क्रिकेट में कोलकाता से शायद ही उनसे बड़ा खिलाड़ी हो, तेजतर्रार रवैए वाले दादा को कोलकाता में शामिल न करना पच नहीं रहा है.

टीमों ने अपने फैसले तो ले लिए हैं. उन्होंने यह फैसले शायद कुछ सोच-समझ कर लिए होंगे, क्योंकि आईपीएल जीतने के लिए सभी टीमों की अलग–अलग रणनीति होती है. लेकिन इन फैसलों से यह साफ़ हो गया है कि एंड्रयू सायमंड्स, कालिस, द्रविड़, गौतम गंभीर, यूसुफ पठान, क्रिसगेल, गांगुली सौरभ, युवराज सिंह, हेडन, कुमार संगकारा, ज़हीर खान जैसे खिलाड़ियों की भी नीलामी होगी और इन खिलाड़ियों को खरीदने के लिए सभी टीमें अपनी ऊँची से ऊँची बोली लगाएंगी.

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 4.00 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग