blogid : 24587 postid : 1237606

घनाक्षरी

Posted On: 13 Apr, 2019 Others में

शब्द स्पंदनJust another Jagranjunction Blogs weblog

surenderpalvaidya

2 Posts

1 Comment

शक्ति की आराधना से, कार्य होते हैं सफल।
शक्ति ही युगों से आदि सृष्टि का आधार है।
शक्ति हीन की कहीं भी, कोई सुनवाई नहीं।
शक्ति के बिना तो सत्य, हमेशा लाचार है।
राष्ट्रभाव जागरण, साथ शक्ति संगठन।
एक सोच साथ लिए, शुभ्र ये विचार है।
भारत महान राष्ट्र, विश्व का गुरु सदैव।
नियति का सत्य आज, ले रहा आकार है।

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग