blogid : 8865 postid : 1366475

बिहार में किस करवट बैठेगा ऊंट

Posted On: 11 Apr, 2019 Politics में

SYED ASIFIMAM KAKVIJust another weblog

syedasifimamkakvi

103 Posts

44 Comments

लोकसभा चुनाव के पहले चरण में बृहस्पतिवार को 20 राज्यों की 91 लोकसभा सीटों पर मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया।बिहार में बृहस्पतिवार को लोकसभा की चार सीटों- औरंगाबाद, गया, नवादा और जमुई तथा विधानसभा की एक सीट नवादा के लिए मतदान समाप्त हो गया। शाम 6 बजे तक इन चारों लोकसभा क्षेत्रों में 53 प्रतिशत मतदान हुआ। लोकसभा चुनाव के प्रथम चरण के तहत राज्य की चार सीटों पर वोट डाले गए। औरंगाबाद- 49.85%, गया- 56%. Nawada-52.5%, जमुई- 54 % वोटिंग.नवादा विधानसभा उपचुनाव में – 48% वोटिंग आज पहले चरण में भाजपा के ख़िलाफ़ जिस प्रकार मतदान हुआ है, वो भाजपा के शासन में पैदा हुए कृषि, रोज़गार व कारोबार के संकट के विरोध का प्रतीक है। बिहार में पहले चरण का स्कोर मेरे आकलन के अनुसार 3 – 1 महागठबंधन के पक्ष में.. नवादा, जमुई और गया महागठबंधन की झोली में और औरंगाबाद एनडीए के पक्ष में नीतीश मैजिक कि बजह से सुशील सिंह औरंगाबाद चुनाव जीत सकते हैं वैसे उपेन्द्र प्रसाद पर आसीसी संगठन चलाना इस बार मंहगा पड़ गया ,नहीं तो इमामगंज से ही इतना बढ़त बना लेते कि सुशील सिंह को पाटना मुश्किल हो जाता ।

वही गया में मोदी मैजिक नहीं चलने के कारण जीतन राम मांझी चुनाव जीत भी सकते हैं । ये साफ देखने को मिला कि गया के व्यापारी ,शहरी वोटर और सवर्ण वोटर नोटा का इस्तमाल किया है और जो वोट देने मतदान केन्द्र पर पहुॅचे भी तो उसमें वो उत्साह नहीं दिखा।एससी एसटी वोटर एनडीए के खिलाफ था ये औंरगावाद से लेकर जमुई तक साफ दिखा ।

यही वजह है कि चिराग हाजीपुर से चुनाव लड़ने कि तैयारी शुरु कर दिया । नवादा र्में भी पासवान पूरी तौर पर चंदन कुमार के साथ नहीं दिखा हलाकि यहाँ भी चंदन कुमार सांस ले रहे हैं उसमें नीतीश मैजिक का ही कमाल है । कहना मुश्किल है कि ऊंट किस करवट बैठेगा लोकतंत्र का महात्यौहार शुरु हो चुका है। देश को अब नये झाँसों में नहीं फँसना है, तरक़्क़ी के पथ पर चलना है। हमें भारत को नई ऊँचाइयों पर ले जाना है। झूठ, फ़रेब, जुमलों से बचाना है और प्यार, अमन व भाईचारे से प्रगति की ओर ले जाना है।

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग