blogid : 317 postid : 304

सोशल साइटों के डरावने सच

Posted On: 24 Apr, 2013 Others में

तकनीक-ए- जहॉMobile, Gadgets, Technology and much more

Technology Blog

174 Posts

487 Comments

images (2)सोशल साइट्स आज युवाओं के बीच सबसे ज्यादा प्रचलित चीजों में एक हैं. जैसा कि नाम से ही पता चलता है कि यह लोगों को सामाजिक तौर पर जोड़ने वाला है, अपनी इसी विशेषता के कारण यह पहले युवाओं और अब इंटरनेट के बढ़ते चलन में लगभग सभी आयु वर्ग में प्रचलित है. चौंकाने वाली खबर यह है कि अब यह लोगों को जोड़ने की बजाय दोस्ती तोड़ने का काम कर रही हैं. शायद आप ये पढ़कर चौंककर पूछेंगे ‘‘कैसे?’’. तो हम आपको बता दें कि ये हम अपनी कल्पना से नहीं, तथ्यों के आधार पर कह रहे हैं. अमेरिका के एक कॉरपोरेट प्रशिक्षण फर्म के सह अध्यक्ष यूसुफ ग्रेनी ने सोशल मीडिया के प्रभावों पर किये गये अपने रिसर्च में यह पाया कि अक्सर कमेंट्स में अव्यवहारिक या कठोर शब्दों का उपयोग दोस्ती में दरार बनकर सामने आती है.


Read: व्यक्ति-विशेष के गुनाह को समुदाय या क्षेत्र से जोड़ना कहाँ तक उचित है


ऑरकुट, फेसबुक, ट्विटर, व्हाट्स ऐप्स, गूगल प्लस जैसी सोशल साइट्स के अलावे भी कई लोकल साइट्स हैं जिनके नाम आपको युवाओं से सुनने को मिल जाएंगे. रिसर्च बताती हैं कि 67 प्रतिशत यूएस वयस्क किसी न किसी सोशल नेटवर्क से जुड़े हैं जिनमें ज्यादातर फेसबुक यूजर्स हैं. इनके अलावे ब्रिटेन की भी आधी जनसंख्या सोशल नेटवर्क से जुड़ी हुई है. भारत में भी आम आदमियों से इतर हर क्षेत्र की मशहूर हस्तियों के फेसबुक, ट्विटर अकांउट आपको मिल जायेंगे. इनमें अमिताभ बच्चन जैसी मनोरंजन की दुनिया से लेकर शशि थरूर जैसे राजनयिक प्रोफाइल भी हैं.


Read: घटते मानवीय मूल्यों के बीच बढ़ती सामाजिक हिंसा


ग़्रिनी की रिपोर्ट के अनुसार एक परिवार को अपने बेटे से बातचीत बंद करनी पड़ी क्योंकि उसने अपनी बहन के कुछ आपत्तिजनक फोटो फेसबुक पर डाल दिया और मना करने पर उसे हटाने से भी इनकार कर दिया. कई जानी-मानी हस्तियां भी इसके कुप्रभावों से दूर नहीं रह सकीं. ओलंपिक में खेलने वाले ब्रिटिश फुटबॉलर जॉय बार्ट्न द्वारा ट्विटर पर पेरिस सेंट जर्मेन के डिफेंडर थियागो सिल्वा को ‘मोटी महिला’ कहने पर फ्रांसीसी फुटबाल महासंघ की आचार समिति द्वारा फटकार का सामना करना. ऐसे कई वाकये हैं जहां प्रसिद्ध से लेकर आम लोगों तक को सोशल नेटवर्क पर कमेंट का खामियाजा अनफ्रेंड होकर या अपने कमेंट पर विवाद के रूप में चुकाना पड़ा.


Read : क्या पीएम को निर्दोष बताने वाली जेपीसी रिपोर्ट भरोसेमंद है?


भारत का ही वाकया ले लें, अभी हाल ही में कांग्रेस और बीजेपी में हुई एक तकरार में एक कांग्रेसी नेता द्वारा ट्विटर पर दिये बयान पर खासा हंगामा हुआ. पूनम पाण्डे के न्यूड फोटो ट्विटर पर डालने पर भी खासी बहस हुई. तो अगली बार फेसबुक पर कोई कमेंट करने से पहले एक बार जरूर सोचें, कहीं यह आपको अनफ्रेंडली तो नहीं कर रहा!

Read:

माउस क्लिक करने से पहले जरा ठहरें..

फेसबुक या ट्विटर पर धमकी देने से पहले दस बार सोचें !!

मृत्यु के बाद कौन होगा आपके ई-मेल अकाउंट का मालिक

कंप्यूटर से इतनी दोस्ती अच्छी नहीं


Tags: Social sites, Social Networking Sites, Social Networking Sites in Hindi, Facebook, Orkut, Twitter, whatsapp, Technology, Friends, Unfriend, Anti-friend, Amitabh Bachchan, Shashi Tharoor, Britain, America,Football Players, Side Effects of Social Media in Hindi, इंटरनेट दोस्ती, सोशल साइट्स.


Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग