blogid : 15395 postid : 619224

राजभाषा हिंदी (‍कविता)

Posted On: 4 Oct, 2013 Others में

meri awaaz - meri kavitaकहीं दब न जाए मेरी आवाज ... खामोशी के बीच

udayraj

25 Posts

98 Comments

राजभाषा हिंदी

हिंदी है उत्‍कृष्‍ट विश्‍व में, सब भाषाओं में अनमोल । जन्‍मी भारत की पुण्‍य-धरा पर, हिंदी की जय जय बोल ।।

**************

राजभाषा हिंदी की उन्‍नति, देश की प्रगति का मूल है । इसकी उपेक्षा करना, हम सब की भूल है ।।

****************

हर क्षेत्र में आगे हैं हम, हिंदी हमें अपनानी है। हर-एक भारतवाशी को, हिंदी हमें सिखलानी है ।।

**************

अक्षर-अक्षर स्‍वर्णिम इसका, शब्‍द-शब्‍द अनमोल । जन्‍मी भारत की पुण्‍य-धरा पर, हिंदी की जय-जय बोल ।।

******************* ********** (राइफल के १७वें अंक, सितम्‍बर २०१३ में प्रकाशित)

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (2 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग