blogid : 26512 postid : 47

सेहत का खजाना तुलसी- अदरक चाय

Posted On: 14 Oct, 2018 Others में

VandanaRBe the change

vandanar

6 Posts

0 Comment

तुलसी का पौधा अमूमन सभी भारतीय परिवारो में पाया जाता है और सनातन संस्कृति में तो यह विषेश रूप से पूजनीय भी है। तुलसी में कई प्रकार के औषधीय गुण भी पाए जाते है जिस कारण से तुलसी के पौधे का आयुर्वेद में भी एक विशेष स्थान है। वस्तुत: तुलसी 11 प्रकार की पाई जाती है परंतु हमारे देश यानी भारत में मुख्य तौर पर चार प्रकार की तुलसी पाई जाती है: रामा, कृष्णा, कपूर और वन तुलसा। चारो ही औषधीय गुणो से पूर्ण और स्वास्थ्य वर्धक है। तुलसी का सेवन कई प्रकार से किया जा सकता है; पत्तो के रुप में, पत्तो का अर्क निकाल कर, काणे के रुप में, चाय में डालकर। मैं आज आपको अदरक और तुलसी की चाय बनाने की विधि और उसके लाभ के बारे में बताऊँगी।

तुलसी और अदरक की चाय गुणो का भंडार है। तो आइए पहले जानते है तुलसी और अदरक की चाय के लाभ:

तुलसी और अदरक की चाय खासी और जुकाम की अचूक दवाई है।
तुलसी और अदरक की चाय हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बेहतर करती है।
तुलसी और अदरक की चाय साइनस की तकलीफ को दूर करने में लाभदायक है।
तुलसी और अदरक की चाय का नियमित सेवन कमर दर्द और सिर दर्द को भी दूर करता है।
तुलसी और अदरक की चाय का सेवन थकान को मिटाता है।
तुलसी और अदरक की चाय का सेवन करने से मानसिक तनाव दूर होता है।
तुलसी और अदरक की चाय का सेवन हृदय को सेहतमंद रखता है।
तुलसी और अदरक की चाय का सुबह-सुबह खाली पेट और रात में सोने से पहले नियमित सेवन करने से न सिर्फ मोटापा बल्कि पेट पर जमी चर्बी भी दूर होती है।
तुलसी और अदरक की चाय का सेवन सुस्ती दूर करता है।
सर्दियों में एक-दो चम्मच तुलसी और अदरक की चाय अगर छोटे बच्चो को दी जाए तो उन्हे पूरी सर्दी नजला जुकाम नही होगा।
तुलसी और अदरक की चाय का सेवन डाइजेशन दुरूस्त रखता है।
इसके अलावा भी कई अन्य लाभ है जिन्हे आप तुलसी और अदरक की चाय का सेवन करने पर स्वयं महसूस करेंगे। आइए अब जानते है तुलसी और अदरक की चाय बनाने की विधि।
सामग्री:

पानी 1 बड़ा कप
तुलसी के पत्ते 4-6
लौंग 2-3
काली मिर्च 4 कुटी हुई
अदरक
नींबू (वैकल्पिक)
शहद 1 चम्मच
विधि:
एक फ्राई पैन में एक कप पानी ले, अब इसमे तुलसी के पत्ते, लौंग, काली मिर्च और थोड़ा सा अदरक कूट कर या कद्दूकस कर के डाल ले। अब इस मिश्रण को उबाल ले और करीब एक मिनट तक उबाले। अब इसे छान लें।आप इसे चाहे तो ऐसे ही पी सकते है। क्योंकी इसका स्वाद तीखा होता है तो आप इसमें एक चम्मच शहद और नींबू डालकर पी सकते है।

सेवन करने से पहले किसी प्रकार की एलर्जिक संभावना के लिए आप अपने डॉक्टर से सलाह मशवराह जरूर करें।

स्वस्थ रहें, खुश रहें

Rate this Article:

  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग