blogid : 1601 postid : 84

अन्ना हजारे के नाम खुला ख़त

Posted On: 21 Aug, 2011 Others में

ajad log Just another weblog

vikasmehta

250 Posts

637 Comments

श्री अन्ना हजारे जी ,

आपने भर्ष्टाचार के विरोध में बिगुल फुक दिया है जन्लोकपाल की मांग कर आपने अपार जनसमर्थन जुटा लिया है .आज जनभावनाए आपके साथ है मेरे जैसे नोजवानो को आपने देशभक्ति की भावना से ओतप्रोत कर दिया है .किन्तु फिर भी लगता है कुछ कमी है आपकी कुछ बाते चुभती है जिनका मै जिक्र यहाँ कर रहा हूँ आशा है आप मेरी बातो पर गोर करेंगे और इन बातो को भी जोर शोर से उठाएंगे .

१ जिस काले धन के मुद्दे को लेकर बाबा रामदेव ने लगभग ५०,००० किलो मीटर का सफ़र तय किया और जनमत जुटाया उस मुद्दे पर आपने अब तक कुछ नही बोला है

२ जिस तरह से आप केवल एक लोकपाल पर बोल रहे है उससे लगता है आपके लिए इस देश में कोई और मुद्दा नही है जैसे .भारतीय शिक्षा ,भारतीय मामलो में विदेशी हस्तक्षेप , चीन की बढती दादागिरी और विस्तारवादी निति ,पाक पर भारत का लचीला रवैया ,आतंकवाद

३ हिन्दू संतो पर सरकारों का अत्यचार ,भगवा जो शांति का पर्तिक है उसे भगवा आतंक का नाम देना जिससे भारत की संस्कृति धूमिल करने की साजिश रची जा रही है .

४ बढती बंगलादेशी घुसपेठ जिससे देश में तमाम तरह की मुसीबते पैदा हो रही है और आतंकी घटनाये बढ़ रही है

श्री अन्ना हजारे जी आज ६४ वर्षो के पश्चात् हमने देशभक्तों का इतना बड़ा जनसैलाब उमड़ा देखा है इसके लिए आप वाकई बधाई के पात्र है .किन्तु इस समय पर आपका केवल जन्लोक्पाल का आन्दोलन ही काफी नही लगता इसके साथ आपके मुद्दे यह भी होने चाहिए जिनका उल्लेख उपर किया गया है .चुकी इस देश में हर दो माह पश्चात् इस तरह से लोगो को देशप्रेम के लिए संघठित नही किया जा सकता न ही इस तरह का आन्दोलन खड़ा किया जा सकता है .मुझे आशा है मेरी बात आप तक अवश्य पहुचेगी और आप इन देशहित के मुद्दों पर गोर करेंगे .

आपका समर्थक =विकास मेहता तोशाम

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग