blogid : 10014 postid : 723447

निर्वाचन

Posted On: 27 Mar, 2014 Others में

Core Of The Heartभूल के काली शब को , लिखो एक नया कुर्शिदा | गुम न होने पाए आवाज तेरी , बरसों तक सुनाई देती रहे सदा ||

VIVEK KUMAR SINGH

24 Posts

139 Comments

निर्वाचन फ़क़त इक प्रक्रिया नहीं ,
अपितु लोकतंत्र का महोत्सव है ।
इसके विधिवत आयोजन से ही ,
किसी देश का कल्याण सम्भव है ॥

कोई अकेला कुछ नहीं कर सकता ,
जनादेश सब करवाता है ।
अपने देश के भाग्य का,
मतदाता ही निर्माता है ॥

जो जैसा मतदान करेंगे ,
उन्हे वैसा ही प्रतिनिधि मिलेगा ।
उसके बनाये रास्तों का
अनुकरण सारा देश करेगा ॥

सहज ह्रदय से, निष्पक्ष होकर,
परीक्षण कर, मतदान करो ।
एक मत भी निर्णायक हो सकता है,
देश के निर्माण में योगदान करो ॥

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग